न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

डोरंडा कॉलेज पर विभाग मेहरबान, बिना आधारभूत संरचना के कई कोर्सेज को दी गयी है मान्यता

31

Ranchi : रांची विश्वविद्यालय (आरयू) के अंतर्गत आनेवाले डोरंडा कॉलेज पर हाल के दिनों में उच्च एवं तकनीकी शिक्षा विभाग ज्यादा ही मेहरबान है. अन्य कॉलेजों की तुलना में यहां बिना आधारभूत संरचना के विभाग की ओर से कई कोर्सेज को मान्यता प्रदान कर दी गयी है. बात यही खत्म नहीं होती है, इन विभागों में बिना स्थायी शिक्षकों को बहाल किये ही स्टूडेंट्स के नामांकन भी लिये गये. कॉलेज में बीएड, एमबीए, बीसीए, आदि वोकेशनल कोर्स तो विभाग की स्वीकृति के बाद आरंभ कर दिये गये, लेकिन अभी तक इन विभागों का सही संचालन कॉलेज की ओर से नहीं किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें- सीबीएसई की तर्ज पर जैक करेगी कॉपियों का मूल्यांकन

ऑडिट रिपोर्ट भी सार्वजनिक नहीं की कॉलेज ने

विभाग के आदेश के अनुसार वोकेशनल कोर्स से संबंधित ऑडिट रिपोर्ट कॉलेजों को सर्वाजनिक करना अनिवार्य है, लेकिन डोरंडा कॉलेज द्वारा ऑडिट रिपोर्ट सर्वाजनिक नहीं की जाती है. वोकेशनल कोर्स में कॉलेज के शिक्षकों की योग्यता-अर्हता का कोई मापदंड कॉलेज द्वारा निर्धारित नहीं किया गया है.

इसे भी पढ़ें- JPSC: एक पेपर जांचने के लिए चाहिए 60 से अधिक टीचर, मेंस एग्जाम की कॉपी चेक करना बड़ी चुनौती

कॉलेज पर इसलिए मेहरबान है विभाग

palamu_12

डोरंडा कॉलेज को छोड़ आरयू के किसी कॉलेज को विभाग की ओर से अनुदान नहीं मिला. इसकी वजह यह है कि कॉलेज के एक अधिकारी इन दिनों प्रतिनियुक्ति पर उच्च एवं तकनीकी शिक्षा विभाग के अधिकारी बने हुए हैं, जो आला अधिकारियों को कॉलेज विकास के लिए मॉडल दिया करते हैं. अधिकारियों को कॉलेज के विकास के लिए सुझाव भी प्रदान करते हैं. वहीं, आरयू के अन्य कॉलेज रामलखन सिंह यादव कॉलेज, एसएस मेमोरियल कॉलेज, रांची वीमेस कॉलेज, जेएन कॉलेज धुर्वा आदि कॉलेज डोरंडा कॉलेज की तुलना में कम ही अनुदान मिलता है.

इसे भी पढ़ें- राज्य के 18 जिलों के 204 प्रखंडों का पानी ही पीने योग्य- स्वजल की रिपोर्ट

धीरे-धीरे कॉलेज का हो रहा कायाकल्प : प्राचार्य

डोरंडा कॉलेज के प्राचार्य डॉ वीएन पांडेय ने कहा कि विभाग द्वारा कॉलेज को कई वोकेशनल कोर्स के संबंध में अनुदान एवं मान्यता प्रदान किये गये हैं. इस कोर्स एवं आधारभूत संरचना के विकास में थोड़ा समय तो लगेगा. आनेवाले दिनों में कॉलेज में सारी चीजें व्यवस्थित हो जायेंगी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: