DeogharJharkhand

देवघर : गोचर जमीन को अतिक्रमण मुक्त कराने को ले ग्रामीणों ने उपायुक्त से लगाई गुहार

Deoghar: जिले के सारठ अंचल क्षेत्र के बड़बाद पंचायत के सिरसिया के ग्रामीणों ने उपायुक्त सहित अनुमंडलाधिकारी व अंचलाधिकारी को आवेदन देकर गोचर जमीन को अतिक्रमण मुक्त कराने की गुहार लगाई है. सीओ वैभव कुमार सिंह को दिए आवेदन में ग्रामीणों का कहना है कि वर्तमान में ग्रामीण विकास विभाग द्वारा धावाबाद (मंझलीबाद) से मंजुरगीला तक सड़क निर्माण की स्वीकृति दी गई है और टेंडर प्रक्रिया के तहत सड़क निर्माण का कार्य किया जा रहा है. बताया गया है कि उक्त सड़क को सिरसिया से काशीडीह होते हुए बनाई जा रही है. वहीं सड़क का निर्माण कार्य करा रही कार्यकारी एंजेंसी के संवेदक द्वारा नक्शे में चिन्हित सड़क की जगह से इतर गोचर जमीन पर उक्त सड़क को बनवा रहे हैं.

ग्रामीणों द्वारा बताया गया कि सिरसिया मौजा के प्लॉट नंबर 83 में 46 डिसमिल एवं प्लॉट नंबर 84 में 2 एकड़ 45 डिसमिल जमीन सर्वे खतियान में गोचर कहकर दर्ज है.

इसे भी पढ़ें:लूट और भ्रष्टाचार का अड्डा बना हुआ है सीओ ऑफिस, दाखिल खारिज के 68 हजार से अधिक केस हैं लंबित: दीपक प्रकाश

ram janam hospital
Catalyst IAS

जबकि उक्त गोचर भूमि में गांव के ही शिवपूजन सिंह द्वारा पूर्व में अवैध रुप से कब्जा करके घर व चाहरदिवारी का निर्माण कर लिया गया है. वहीं अनदेखा करते हुए संवेदक द्वारा सिरसिया व कांशीडीह गांव में सड़क का भी निर्माण किया जा रहा है.

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

जिसपर आपत्ति करने पर संवेदक द्वारा मनमानी की गई. जिसके बाद विवश होकर ग्रामीणों ने उपायुक्त देवघर, अनुमंडल पदाधिकारी मधुपुर व अंचलाधिकारी सारठ को लिखित आवेदन देकर समुचित कार्रवाई करते हुए गोचर जमीन को अतिक्रमण मुक्त कराने की गुहार लगाई है.

आवेदन में रोहित कुमार सिंह, अखलेश्वर प्रसाद सिंह, चंद्रशेखर सिंह, रूपेश सिंह, शुभम, परमानन्द, पतितपावन सिंह समेत अन्य ग्रामीणों का हस्ताक्षर है.

इसे भी पढ़ें:लोहरदगा में नक्सलियों के आईईडी ब्लास्ट में एक जवान घायल

मामले की होगी जांचः सीओ

वहीं इस संबंध में सीओ वैभव कुमार सिंह ने बताया कि ग्रामीणों द्वारा गोचर जमीन पर सड़क निर्माण एवं अवैध अतिक्रमण की शिकायत मिली है.

जल्द मामले की जांच कराते हुए दोषियों के विरुद्ध आवश्यक कानूनी कार्रवाई की जायेगी. किसी भी सूरत में गोचर जमीन का अतिक्रमण नहीं करने दिया जायेगा.

इसे भी पढ़ें:उत्तराखंड चुनावः गरजे आलमगीर आलम, कहा- 5 सालों में भाजपा ने दिये 3 सीएम, अब कांग्रेस की सरकार तय

Related Articles

Back to top button