DeogharJharkhand

देवघर : निगम क्षेत्र के वार्ड 12 में ट्रेड लाइसेंस व अन्य टैक्स को लेकर चला छापेमारी अभियान, कई प्रतिष्ठानों से वसूला गया जुर्माना

Deoghar: शुक्रवार को देवघर नगर निगम के वार्ड नंबर 12 में होल्डिंग टैक्स वाटर यूजर चार्ज और ट्रेड लाइसेंस के लिए छापेमारी अभियान चलाया गया. जिसमें वित्तीय वर्ष 2017-18 से 2021-22 तक भुगतान नहीं करने वाले 156 बड़े बकायेदारों को झारखंड नगर पालिका अधिनियम 2011 की धारा 184 के अंतर्गत 156 बड़े बकायेदारों को नोटिस निर्गत किया गया.

जिनमें से कुछ बकायेदारों द्वारा होल्डिंग टैक्स का भुगतान भी किया गया तथा नगर निगम में अवस्थित वार्ड 14 एवं 17 में ट्रेड लाइसेंस एक्सपायर्ड जिसके संदर्भ में नगर निगम की टीम के द्वारा उक्त वार्ड में फील्ड विजिट करते हुए ट्रेड लाइसेंस का नवीनीकरण किया गया. साथ ही इसको लेकर 5000 से 10000 तक पेनाल्टी रसीद काटा गया.

इसे भी पढ़ें:Trending: नौकरी के पहले ही दिन सिक्योरिटी गार्ड ने कंपनी को लगाया 7 करोड़ रुपये का चूना, जानें क्या है मामला

Sanjeevani

जिसमें बरमसिया स्तिथ 2 शराब दुकान, रौशन फास्ट फूड, बाबा बैद्यनाथ विवाह भवन, अलकापुरी गेस्ट हाउस प्रमुख हैं. साथ ही जिन व्यापारिक प्रतिष्ठानों ने अभी तक ट्रेड लाइसेंस निर्गत नहीं करवाया गया है.

नगर निगम ऐसे प्रतिष्ठान का जल्द से जल्द लाइसेंस बनवाना सुनिश्चित करने की अपील करते हुए उनके विरुद्ध झारखंड नगर पालिका अधिनियम 2011 की धारा 187 189 463 एवं 600 के अंतर्गत कार्यवाही करते हुए 25000 रुपए तक जुर्माना लगाया जाने की बात कही.

इसे भी पढ़ें: बीआरपी-सीआरपी को शिक्षा विभाग का निर्देश, हर दिन 10 स्कूल घूम कर देखें कि मध्याहन भोजन मिल रहा है या नहीं

वाटर यूजर चार्ज के लिए अवैध कनेक्शन को वैध तथा जिन हाउसहोल्ड का विगत 3 माह से वाटर यूजर चार्ज बकाया है नोटिस करते हुए वसूली की जा रही है.

टैक्स दारोगा जयशंकर साह ने कहा कि देवघर नगर निगम के अंतर्गत होल्डिंग टैक्स, वाटर यूजर चार्ज, ट्रेड लाइसेंस के लिए नया भवन देवघर नगर निगम एवं पुराना भवन देवघर नगर निगम में अपना बकाया टैक्स जमा करा सकते हैं.

छापेमारी अभियान में नगर निगम के टैक्स कलेक्टर दिनेश देव, सतन रमानी, खिलेश्वर शर्मा पीएमयू (सीसीएसपीएल), एसपीएस के ऑपरेशनल मैनेजर विपिन पांडेय, प्रोजेक्ट मैनेजर विकास रंजन एवं ट्रेड ऑफिसर मोहित मिश्रा, एरिया मैनेजर अमर देव, टीम लीडर हरेराम यादव, राकेश कुमार व अन्य लोग थे.

इसे भी पढ़ें: BIG NEWS : रेप केस में skin to skin touch का विवादित फैसला देनेवाली बॉम्बे हाईकोर्ट की एडिशनल महिला जज ने दिया इस्तीफा

Related Articles

Back to top button