DeogharJharkhand

देवघर: झारखंड चिकित्सा एवं जन स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के अध्यक्ष ने की हटाए गए कर्मचारियों के बकाया वेतन भुगतान की मांग

Deoghar: झारखंड चिकित्सा एवं जन स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष मनोज कुमार मिश्र ने सिविल सर्जन डॉ सीके शाही को पत्र लिखकर हटाए गए कर्मचारियों के बकाये वेतन के भुगतान की मांग की है. उन्होंने बजट सत्र 2021-2022 के समाप्ति के पूर्व सबों को भुगतान करने का अनुरोध किया है. पत्र की प्रतिलिपि अभियान निदेशक झारखंड ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन को भी दी गई है. ज्ञात हो कि कोविड महामारी के दूसरे लहर को नियंत्रण में करने के लिए परियोजना निदेशक के विभिन्न आदेशों के माध्यम से राज्य में सैकड़ों पारा मेडिकल सहित अन्य कर्मचारियों को छह महीने के अनुबंध पर नियुक्त किया गया था.

इसे भी पढ़ें :  झारखंड विस का बजट सत्र 25 से, हंगामेदार होने के आसार, भाषा विवाद, मॉब लिंचिंग, कानून व्यवस्था पर सरकार को घेरने की तैयारी

जिसमें देवघर जिले में विभिन्न पदों पर करीब 50-60 कर्मचारियों ने योगदान दिया था. छह महीने की अवधि पूरी होने पर सिविल सर्जन देवघर के द्वारा उन सभी कर्मियों की सेवा नवम्बर 2021 में समाप्त कर दी गई. परन्तु उन्हें मात्र तीन महीने के मानदेय का भुगतान ही किया गया है. हटाए जाने के तीन महीने के बाद भी उन्हें अब तक बकाया पारिश्रमिक का भुगतान नही किया गया है. इस संबंध में हटाए गए दर्जनों कर्मचारियों ने कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष से मिलकर सहयोग की अपील की है. संघ के जिलाध्यक्ष ने कहा कि किये गए कार्य के विरुद्ध पारिश्रमिक का भुगतान पाना कर्मियों का मौलिक अधिकार है और मौलिक अधिकार से उन्हें वंचित नहीं किया जा सकता है.

Catalyst IAS
ram janam hospital

इसे भी पढ़ें : 6th JPSC : आसान नहीं है संशोधित मेरिट लिस्ट जारी करना, विकल्पों पर हो रही चर्चा

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

Related Articles

Back to top button