DeogharJharkhand

देवघर: बाबा मंदिर में पूजा व मेले का आयोजन नहीं, सुरक्षा में कटौती के आदेश

Ranchi: देवघर के बैद्यनाथ मंदिर में इस बार कांवर यात्रा और श्रावणी मेले के आयोजन नहीं होगा. झारखंड हाइकोर्ट ने कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए इस बार दर्शन की इजाजत नहीं दी है. बाबा मंदिर में इस साल श्रद्धालु ऑनलाइन दर्शन कर सकेंगे इसकी इजाजत हाइकोर्ट ने दी है.  पुलिस मुख्यालय ने इस वजह से सुरक्षा में कटौती के आदेश दिए हैं. झारखंड पुलिस मुख्यालय के आईजी अभियान ने इस सबंध में देवघर एसपी को पत्र लिखा है.

देवघर एसपी को निर्देश दिया गया है कि 14 जुलाई तक वहां तैनात आइआरबी, जैप बटालियन की कंपनी और विभिन्न जिलों में तैनात अफसरों की प्रतिनियुक्ति वापस कर उनके लौटने का इंतजाम किया जाए. देवघर पुलिस को भेजे गये आदेश के मुताबिक, 7 इंस्पेक्टर, 40 दारोगा- जमादार और 400 जवानों को देवघर ड्यूटी से वापस भेजा जाएगा.

इसे भी पढ़ें-अमिताभ बच्चन हुए कोरोना पॉजिटिव, मुंबई के नानावटी अस्पताल में भर्ती

10 अगस्त तक के लिए हुई थी तैनाती

सावन महीने के शुरुआत में सभी पुलिसकर्मियों की तैनाती 10 अगस्त तक के लिए हुई थी. पुलिस मुख्यालय ने रामगढ़, गुमला, सरायकेला, धनबाद, बोकारो, पलामू, गिरिडीह, जामताड़ा, पाकुड़, गोड्डा और रेल जमशेदपुर से 15 इंस्पेक्टर, 90 एसआई और एएसआइ की तैनाती की थी.

वहीं, आइआरबी 8 गोड्डा, आइआरबी 9 गिरिडीह, आइआरबी 1 जामताड़ा, आइआरबी 2 मुसाबनी, आइआरबी 3 चतरा और जैप सात हजारीबाग से कुल 750 पुलिसकर्मियों की तैनाती देवघर में हुई थी. इसके अलावा आइआरबी 8 से 100 महिला पुलिसकर्मियों की तैनाती भी अलग से की गयी थी.

इसे भी पढ़ें-झारखंड में कोरोना से 24वीं मौत, गिरिडीह के अधेड़ ने मेदांता में तोड़ा दम

श्रावणी मेले के आयोजन की HCने नहीं दी थी इजाजत

देवघर के बैद्यनाथ मंदिर और बासुकीनाथ में इस बार कांवर यात्रा और श्रावणी मेले के आयोजन की झारखंड हाइकोर्ट ने इजाजत नहीं दी है. कोर्ट ने सरकार को लोगों की धार्मिक आस्था को देखते हुए इन मंदिरों में होने वाली पूजा का भक्तों को ऑनलाइन दर्शन कराने की व्यवस्था करने का निर्देश दिया है.

चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन और जस्टिस सुजीत नारायण प्रसाद की अदालत ने 3 जुलाई को सांसद निशिकांद दुबे की याचिका पर फैसला सुनाते हुए यह निर्देश दिया था. इसके साथ ही याचिका निष्पादित कर दी. कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि राज्य सरकार का मानना है कि कोरोना संक्रमण का खतरा अभी बरकरार है. कांवर यात्रा और मेले के आयोजन से स्थिति बिगड़ सकती है. ऐसे में इतने बड़े आयोजन की अनुमति देना उचित नहीं होगा.

इसे भी पढ़ें-Corona: मेदांता के डॉक्टर, जैप के DSP व दो मीडियाकर्मी समेत 142 नये संक्रमित मिले, झारखंड का आंकड़ा 3660

2 Comments

  1. 967947 282431Most beneficial gentleman speeches and toasts are created to enliven supply accolade up to the wedding couple. Newbie audio system the attention of loud crowds need to always think about typically the excellent norm off presentation, which is their private. very best man speaches 751821

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button