Crime NewsDeogharJharkhand

देवघर :  साइबर अपराध के खिलाफ पुलिस की बड़ी कार्रवाई, 28 मोबाइल, 21 सिम कार्ड सहित 18 गिरफ्तार

deoghar :  साइबर अपराध पर लगाम लगाने को लेकर एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा के निर्देश पर शनिवार रात्रि साइबर पुलिस की टीम ने छापामारी की. जिले के मारगोमुंडा, करौं, सारठ थाना क्षेत्र के पथरड्डा व पथरौल थाना क्षेत्र के विभिन्न गांवों से छापेमारी की गयी. इसमें कुल 18 साइबर आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

गिरफ्तार आरोपी आमलोगों को प्रधानमंत्री जनधन योजना के नाम से पैसे भेजने के नाम पर उनसे उनके बैंक खाते से संबंधित जानकारी और ओटीपी पूछ कर ठगी करते थे. उनके बैंक अकाउंट से पैसे निकाल लेते थे.

इसे भी इसे भी पढ़ेंः जब तक लालू करेंगे “रेस्ट”, तब तक डायरेक्टर रहेंगे “गेस्ट”

गिरफ्तार अपराधियों के नाम

गिरफ्तार आरोपियों में मारगोमुण्डा थाना क्षेत्र के मारगोमुण्डा बाजार निवासी प्रदुम कुमार मंडल, खिजुरियाटांड़ निवासी जगत कुमार मंडल, टिकल मंडल, वीरेंद्र मंडल, गिरिडीह जिले के ताराटांड़ थाना क्षेत्र के पिंडरिया गांव निवासी उमेश मंडल, करौं थाना क्षेत्र के गोविंदपुर निवासी मिथिलेश कुमार रमानी, चंदन कुमार यादव, बबलू कुमार, अरविंद दास, छोटेलाल दास, पप्पू कुमार दास, बसंत कुमार दास, सिंहपुर निवासी मुन्ना सिंह, सारठ थाना क्षेत्र के पथरड्डा ओपी अंतर्गत पिछड़ीबांध डुमरिया गांव निवासी बबलू कुमार दास, पथरौल थाना क्षेत्र के भैरो गांव निवासी अनिल दास, कपिलदेव दास, दिलीप दास व सुमन दास शामिल हैं.

इसे भी पढ़ेंः मान-सम्मान एवं राजकीय सुविधाओं की मांग को लेकर राज्य भर में 12 हजार झारखंड आंदोलनकारियों ने किया अनशन

छापामारी में क्या-क्या मिला

गिरफ्तार आरोपियों के पास से पुलिस ने 28 मोबाइल फोन, 51 सिमकार्ड, 16 एटीएम कार्ड, 11 बैंक पासबुक, 1 चेकबुक, 3 मोटरसाइकिल व नकद 55 हजार रुपए भी जब्त हुए हैं.

एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा ने जानकारी दी कि उन्हें गुप्त सूचना मिली थी. उपरोक्त गांवों के कुछ युवा भोले-भाले लोगों को फोन कॉल कर अपने आप को बैंक अधिकारी बताते हुए व अन्य कई तरीकों से लोगों को मूर्ख बना रहे थे.

 

गिरफ्तार आरोपियों में चार आपस में सगे भाई हैं

गिरफ्तार आरोपियों में से कई आपस में सगे भाई हैं. गिरफ्तार आरोपियों में जगत कुमार मंडल व टिकल मंडल सगे भाई हैं. जबकि करौं थाना क्षेत्र के गोविंदपुर निवासी अरविंद दास व छोटेलाल दास भी आपस में सगे भाई हैं. दोनों भाई साथ मिलकर साइबर क्राइम करते थे.

इसे भी पढ़ेंः बिहार में हो सकते हैं दो डिप्टी सीएम, जानिये कौन से विधायक हैं रेस में सबसे आगे

छापेमारी टीम में शामिल पुलिस अधिकारी व जवान

एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा के निर्देश पर गठित छापेमारी टीम का नेतृत्व प्रशिक्षु आईपीएस सारठ थाना कपिल चौधरी, साइबर डीएसपी मंगल सिंह जामुदा कर रहे थे. जबकि टीम में साइबर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर कलीम अंसारी, साइबर थाना की इंस्पेक्टर संगिता कुमारी  के अलावे उनके सहयोग में थाना प्रभारी मारगोमुण्डा, करौं, पथरौल व पथरड्डा ओपी प्रभारी भी मौजूद थे.

जबकि उनके अलावा साइबर थाना के इंस्पेक्टर होनहागा,  पीएसआई प्रेम प्रदीप कुमार, रूपेश कुमार, कुमार गौरव, अतीश कुमार, मनोज कुमार मुर्मू, महिला पीएसआई संगीता रजवार, अविनाश कुमार गौतम, स्वरूप भंडारी, अवधेश बड़ा, सुनील चौधरी, पुष्पेश्वर दास, अजय कुमार यादव, राजेश कुमार, पंकज कुमार निषाद, हवालदार मंगल टुडू, इमानुएल मरांडी, आरक्षी प्रदीप कुमार मंडल, जयराम पंडित, सोमलाल मुर्मू, वरुण कुमार दर्वे, तीरथ कुमार सिंह, प्रेमसागर पंडित, नुनेश्वर ठाकुर, श्यामापद सिंह, सपन कुमार मंडल, दिनेश चौधरी, चालक आरक्षी शमूएल मुर्मू, राजेश कुमार, रोहित सिंह, अशोक कुमार ठाकुर व रतन दुबे शामिल थे.

इसे भी पढ़ेंः रिम्स के नये निदेशक पद्मश्री डॉ कामेश्वर प्रसाद ने संभाला पदभार, कहा- इसे एम्स जैसा बनायेंगे

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: