DeogharJharkhand

देवघर में निगम के ठेकेदारों का कारनामा, टेंडर लेने के लिए दे रहे फर्जी चरित्र प्रमाण पत्र

Deoghar: अमानत में खयानत करने में माहिर संबंधित विभागों के कई संवेदक विकास योजनाओं का कार्य प्राप्त करने के लिए कई तरह के हथकंडे को विभाग की आंखों में धूल झोंक कर अंजाम देने में माहिर हैं. हद तो यह हो गई कि आधुनिक तकनीक के इस युग में कई संवेदक चरित्र प्रमाण पत्र में भी हेराफेरी करने में माहिर हो गए हैं. हालिया मामला देवघर नगर निगम से जुड़ा हुआ है. इस बाबत शंभू चौधरी, मुकेश यादव व प्रवीण दास ने उपायुक्त को पत्र लिखकर संवेदकों द्वारा चरित्र प्रमाण पत्र में हेराफेरी करने के मामले की शिकायत की गई है.

शिकायत पत्र में कहा गया है कि देवघर नगर निगम में कुछ संवेदकों द्वारा निविदा में पूर्व से निर्गत चरित्र प्रमाण पत्र की तिथि में और पत्रांक में हेरा फेरी कर निविदा में भाग लिया जाता है. जो एक जांच का विषय है. वर्तमान में निविदा संख्या 38, 43, 45 व 51 वर्ष 2022-23 में हुआ है. इस निविदा में कुछ संवेदकों द्वारा ऐसे फर्जी प्रमाण पत्र संलग्न किया गया है. शिकायतकर्ता ने उपायुक्त से आग्रह किया है कि देवघर नगर निगम से संवेदकों दिए गए चरित्र प्रमाण पत्र को जिला मुख्यालय से सत्यापन कराकर कार्य आवंटन हेतु निर्देश देने की कृपा करें. ताकि निविदा निष्पादन नियमानुकूल हो सके. पत्र की प्रतिलिपि नगर विकास सचिव को भी भेजी गई है. सूत्र बताते हैं कि उपायुक्त द्वारा मामले की जांच करने का निर्देश देवघर नगर निगम को दिया है.

इसे भी पढ़ें: देवघर के बरमोरिया में 92 करोड़ की लागत से 5 एकड़ क्षेत्र में बनेगा नया समहरणालय भवन

Related Articles

Back to top button