DeogharJharkhand

देवघर : श्रावणी मेला में कमान संभालेंगे 210 डॉक्टर, 512 पारामेडिकल स्टाफ

Deoghar : श्रावणी मेले में 105 किमी तक लगाने वाला विश्व का सबसे लंबा और एक माह तक देवघर में चलने वाला श्रावणी मेला आगामी 14 जुलाई से शुरू हो रहा है. सुल्तानगंज स्थित उत्तरवाहिनी गंगा से कांवर में जल भर कर श्रद्धालु नंगे पांव 105 किलोमीटर की कठिन यात्रा कर बाबाधाम पहुंचते हैं और बाबा बैद्यनाथ के मनोकामना लिंग पर गंगा जल अर्पित करते हैं. श्रावणी मेला में श्रद्धालुओं को स्वास्थ्य विभाग की ओर से बेहतर चिकित्सा व्यवस्था उपलब्ध कराने की तैयारी की जा रही है.

इस बाबत सिविल सर्जन डॉ सीके शाही ने बताया कि श्रद्धालुओं को चिकित्सा संबंधित किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े, इसके लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा 210 चिकित्सकों और 512 पैरामेडिकल स्टाफ की प्रतिनियुक्ति की जाएगी.

साथ ही 24 घंटे स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए पूरे मेला क्षेत्र में 29 स्वास्थ्य शिविर, 27 अस्थाई शिविर बनाए जाएंगे. इन शिविरों में अस्थाई रूप से 10 से अधिक बेड की भी व्यवस्था रहेगी. बाबा मंदिर से सटे स्वास्थ्य सुविधा केंद्र में शहर के बीचो-बीच पुराना सदर अस्पताल और जिला अस्पताल में भी मुकम्मल व्यवस्था की तैयारी की जा रही है. इसके अलावा 37 साधारण एंबुलेंस और राष्ट्रीय सेवा के 108 नंबर की एंबुलेंस के अलावा मोबाइल और बाइक एंबुलेंस की भी व्यवस्था रहेगी.

ram janam hospital
Catalyst IAS

इसे भी पढ़ें:Rath Yatra 2022 : भाई-बहन संग मौसीबाड़ी के ल‍िए न‍िकले भगवान जगन्‍नाथ, रथ खींचने के ल‍िए उमड़े श्रद्धालु, देख‍िए कोल्‍हान की तस्‍वीरें

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

कोरोना संक्रमण को ले रहेगी विशेष व्यवस्था

सिविल सर्जन ने बताया कि श्रावणी मेला को लेकर कोरोना संक्रमण को लेकर स्वास्थ्य विभाग की ओर से विशेष व्यवस्था की जा रही है. मेला में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन और राज्य सरकार द्वारा पर्याप्त मात्रा में आवश्यक दवाई भी उपलब्ध रहेगा. मेला क्षेत्र में जांच और वैक्सीनेशन का भी कार्य किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें:बीपीएससी पेपर लीक मामले की सीबीआई जांच की मांग को हाइकोर्ट ने किया खारिज

Related Articles

Back to top button