Crime NewsDeogharJharkhand

देवघर : सारठ, पथरौल व पथरड्डा थाना क्षेत्रों से 18 साइबर अपराधी गिरफ्तार

  • गिरफ्तार साइबर अपराधियों के पास से 96 हजार नगद, 1 लैपटॉप, 43 मोबाइल फोन, 54 सिमकार्ड, 32 पास बुक, 14 एटीएम, 5 चेकबुक, 1 आलटो कार व 1 आपाची बाइक बरामद

Deoghar: साइबर अपराध की रोकथाम की दिशा में पुलिस द्वारा की जा रही कार्रवाई के दौरान रविवार की रात पुलिस को  बड़ी सफलता हाथ लगी है. पुलिस कप्तान आश्विनी कुमार सिन्हा को मिली गुप्त सूचना के आधार पर निर्देशानुसार दो अलग अलग पुलिस टीम का गठन कर बीते रात जिले के सारठ, पथरौल व पथरड्डा थाना क्षेत्र के अलग अलग गांव में छापेमारी कर 18 साइबर अपराधियों को गिरफ्तार कर सोमवार को जेल भेज दिया.

Jharkhand Rai

गिरफ्तार अपराधियों के पास से पुलिस ने 96 हजार नगद सहित 1 लैपटॉप, 43 मोबाइल फोन, 54 सीमकार्ड, 32 पासबुक, एटीएम 14, 5 चेकबुक, 1 आलटो कार तथा 1 आपाची बाइक बरामद किया है .

एसपी के निर्देश पर गठित टीम वन का नेतृत्व  डीएसपी मुख्यालय मंगल सिंह जामुदा, साइबर थाना की पुलिस निरीक्षक संगीता कुमारी, थाना प्रभारी चितरा व खागा तथा टीम टू का नेतृत्व सारठ डीएसपी अमोद नारायण सिंह, पुलिस निरीक्षक साइबर थाना होनहागा,  थाना प्रभारी सारठ व पथरड्डा ओपी प्रभारी के नेतृत्व में छापेमारी की गयी.

पुलिस टीम की  छापेमारी सारठ थाना के सुखजोरा, गोबरशाला, पथरड्डा ओपी के डुमरिया व पथरौल थाना क्षेत्र के टंडेरी, मलमला गांव में की गयी.

Samford

इस बाबत जानकारी देते हुए एसपी पुलिस ने कहा कि गुप्त सूचना मिल रही थी कि कुछ  साइबर अपराधी सक्रिय होकर आमजनों से ठगी का कार्य कर रहे हैं. इस सूचना के आधार पर पुलिस टीम गठित कर छापेमारी की गयी.

छापेमारी के दौरान सारठ थाना क्षेत्र के सुखजोरा, गोबरशाला गांव से 10, पथरड्डा ओपी के डुमरिया तथा पथरौल थाना क्षेत्र के टंडेरी मलमला गांव से 8 साइबर अपराधी को गिरफ्तार किया. गिरफ्तार साइबर अपराधी फर्जी बैंक अधिकारी बनकर एटीएम बंद होने एवं चालू कराने को कह कर आम जनता से ओटीपी लेकर ठगी का कार्य करते हैं. इस क्रम में फोन पे व पेटीएम से ओटीपी लेकर ठगी का कार्य करते हैं. गूगल पर वॉलेट एवं बैंक के फर्जी कस्टमर केयर नंबर का एडवर्टाइजमेंट देकर आम लोगों से सहायता के नाम पर ठगी करते हैं. रिमोट एक्सेस एप्स इंस्टॉल करवा कर गूगल पर मोबाइल नंबर का पहला चौथा संख्या डालकर और 6 संख्या जोड़कर साइबर ठगी का कार्य करते हैं.

एसपी ने बताया कि जब तक देवघर को साइबर क्राइम से मुक्त नहीं हो जाता तब तक इस तरह के अभियान को बराबर चलाया जायेगा. साथ ही गिरफ्तार साइबर अपराधियों का अपराधिक इतिहास खंगालने का काम किया जा रहा है. उन्होंने जनता से अपील किया कि वह पुलिस का सहयोग करें. दोनों छापेमारी टीमों में सम्मिलित अधिकारी व जवान को पुरस्कृत किया जायेगा.

गिरफ्तार साइबर अपराधी

छापेमारी के क्रम में सारठ थाना क्षेत्र के सुखजोरा गांव से शेखर मंडल, वरुण कुमार मंडल, नीतेश कुमार मंडल, बासुदेव कुमार मंडल, रामाकांत कुमार मंडल, बमभोला कुमार मंडल, राकेश कुमार मंडल, सागर कुमार मंडल,  धनंजय कुमार मंडल व गोबरशाला गांव के रंजीत कुमार दास की गिरफ्तारी की गयी. पथरड्डा ओपी क्षेत्र के डुमरिया गांव से संजय महरा, शेखर कुमार दास, श्याम सुंदर दास, सुनील कुमार मेहरा, विकास कुमार महरा, देवव्रत महरा, अमित कुमार दास तथा पथरौल थाना क्षेत्र के टंडेरी मलमला गांव से पंकज दास को गिरफ्तार किया गया. गिरफ्तार साइबर अपराधियों की उम्र 19 से 40 वर्ष के बीच है.

छापेमारी टीम में शामिल पुलिस अधिकारी व जवान

एसपी के निर्देश पर गठित दो अलग अलग छापेमारी में साइबर थाना के प्रशिक्षु एसआइ प्रेम प्रदीप कुमार, रूपेश कुमार, स्वरूप भंडारी, अजय कुमार यादव, अविनाश कुमार गौतम, गुरुदयाल सबर, गौरव कुमार, मनोज कुमार मुर्मु, धनंजय कुमार सिंह, अघनु मुंडा, अवधेश बाड़ा, कपिलदेव यादव, संगीता रजवार, आरक्षी प्रदीप कुमार मंडल, सोमलाल मुर्मू, प्रेम सागर पंडित,  रंजन कुमार दास, तीरथ कुमार सिंह, सपन मंडल, श्यामापद सिंह, हवलदार मंगल टूडू, इमानुएल मरांड़ी, पुलिस वाहन चालक बबलू सिंह और चालक रतन दुबे, राजेश कुमार सामुएल मुर्मू शामिल थे.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: