National

NMC के खिलाफ प्रदर्शन: आपात सेवाएं बहाल, गैर-आवश्यक विभाग रहेंगे प्रभावित

New Delhi: राष्ट्रीय आयुर्विज्ञान आयोग (एनएमसी) विधेयक के खिलाफ रेजिडेंट डॉक्टरों के हड़ताल पर जाने के चलते दिल्ली के कई सरकारी अस्पतालों में मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने हड़ताल कर रहे डॉक्टरों से काम पर लौटने की अपील की.

इसे भी पढ़ेंःमंद पड़ रही अर्थव्यवस्था की रफ्तार खतरे की घंटी : HDFC चेयरमैन

विभिन्न एसोसिएशनों के डॉक्टरों ने विधेयक के कुछ प्रावधानों को लेकर आपत्तियां व्यक्त की और आरोप लगाया कि ये गरीबी विरोधी, छात्र-विरोधी और अलोकतांत्रिक है.

इमरजेंसी सेवा बहाल

शुक्रवार तकरीबन आधी रात को एम्स, आरएमएल अस्पताल और दिल्ली सरकार द्वारा संचालित अस्पतालों समेत अधिकांश अस्पतालों में आपातकालीन सेवाएं फिर से शुरू कर दी गईं.

प्रदर्शनकारी डॉक्टर गैर-आवश्यक सेवा विभागों में हड़ताल जारी रखेंगे. जिसमें बाह्य-रोगी विभाग (ओपीडी) शामिल है.

यह निर्णय शुक्रवार देर रात तक चलीं रेजिडेंट डॉक्टर एसोसिएशनों की बैठकों में लिया गया.

adv

इसे भी पढ़ेंःजम्मू-कश्मीर के सोपोर में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़, एक आतंकी ढेर

एम्स, सफदरजंग अस्पताल, आरएमएल अस्पताल के रेजिडेंट डॉक्टरों के संघों और फेडरेशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन (फोर्डा) और यूनाइटेड रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन (यूआरडीए) से जुड़े चिकित्सकों ने गुरुवार को आपातकालीन विभाग में काम का बहिष्कार कर विरोध प्रदर्शन किया था.

उन्होंने गुरवार शाम एनएमसी विधेयक राज्यसभा से पारित होने के बाद शुक्रवार को भी अपनी हड़ताल जारी रखी.

इसे भी पढ़ेंःगुजरातः गोधरा में ‘जय श्रीराम’ का नारा नहीं लगाने पर तीन मुस्लिम युवकों की पिटाई, छह के खिलाफ केस

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: