न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नोटबंदी और जीएसटी से नौकरियों में कमी, व्यापारियों का मुनाफा घटा : सर्वे

नोटबंदी और जीएसटी के कारण 2014 के बाद देश भर में विभिन्न क्षेत्रों के व्यापारियों को अपने क्षेत्र में भारी नुकसान का सामना करना पड़ा है

1,242

NewDelhi : नोटबंदी और जीएसटी के कारण 2014 के बाद देश भर में विभिन्न क्षेत्रों के व्यापारियों को अपने क्षेत्र में भारी नुकसान का सामना करना पड़ा है. ऑल इंडिया मेनुफेक्चर ऑर्गेनाइजेशन (एआईएमओ) ने अपने नये सर्वे में यह बात उजागर की है. ट्रेडर्स एंड माइक्रो स्माल एंड मीडियम इंटरप्राइजेज (एमएसएमई) ने भी साल 2014 से लगातार नौकरी में कमी और लगातार मुनाफे में गिरावट की सूचना दी है. बता दें कि एआईएमओ ने   व्यापारियों और एमएसएमई के 34,700 सैंपल का सर्वे किया है. सर्वे के लिए लगभग 34,000 व्यापारियों, विनिर्माण, सर्विस एंड एक्सपोर्ट सेक्टर, पेशेवर और व्यापार निकाय को शामिल किया गया. इसमें विशेष रूप से  पंजाब, हरियाणा, तमिलनाडु, कर्नाटक, महाराष्ट्र, हैदराबाद, असम, पश्चिम बंगाल और केरल के लोगों से बात की गयी.

सर्वे के अनुसार 2014 के बाद विभिन्न क्षेत्रों के व्यापारियों को अपने क्षेत्र में भारी नुकसान हुआ.  बताया जाता है कि एआईएमओ विनिर्माण और निर्यात में लगे तीन लाख से अधिक सूक्ष्म, छोटे, और मध्यम और बड़े पैमाने पर उद्योगों का प्रतिनिधित्व करता है.

2014 के बाद से व्यापारियों के परिचालन मुनाफे में 70 फीसदी की कमी आयी

 रिपोर्ट में जो बात सामने आयी, उसके अनुसार व्यापार खंड में 43 फीसदी की दर से नौकरी की कमी की सूचना मिली. साथ ही माइक्रो-सेगमेंट में 32 फीसदी की दर से नौकरी का नुकसान हुआ. छोटे सेगमेंट में 35 फीसदी  और मध्यम उद्योगों ने 24 फीसदी नौकरी के नुकसान की जानकारी है. सर्वे के अनुसार एआईएमओ ने व्यापारियों और एमएसएमई क्षेत्र को पुनर्जीवित करने के लिए बहुत अधिक गंभीरता के साथ ध्यान देने की आवश्यकता पर बल दिया है. इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार  एआईएमओ के अध्यक्ष केई रघुनाथ ने बताया कि सर्वे से साफ है   कि 2014 के बाद से व्यापारियों के परिचालन मुनाफे में 70 फीसदी की कमी आयी.   सूक्ष्म उद्योग में 43 फीसदी परिचालन मुनाफे में कमी आयी.  

छोटे पैमाने पर उद्योगों में 35 फीसदी, मध्यम उद्योगों में 24 फीसदी की कमी आयी,  यह बहुत ज्यादा है. कहा कि इन सेक्टर्स में तत्कान ध्यान देने की जरुरत है. हालांकि रघुनाथ ने  बताया कि 2015-16 में नसी सरकार के आने के बाद कारोबार में बढ़ोतरी देखी गयी.  मगर उसके बाद नोटबंदी की वजह से कारोबार में गिरावट आनी शुरू हो गयी. जीएसटी की वजह से व्यापार प्रभावित हुआ. 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: