न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

ईसाई मिशनरियों को बदनाम कर रही सरकार, मदर टेरेसा से भारत रत्न वापस लेने की मांग BJP-RSS की चाल: मरांडी

मामले की जांच हो, मीडिया ट्रायल नहीं- बाबूलाल

1,021

Ranchi: मिशनरीज ऑफ चैरिटी, निर्मल हृदय में शनिवार को झारखंड विकास मोर्चा के सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी और बंधु तिर्की पूरे घटनाक्रम की जानकारी लेने के लिए पहुंचे. इस दौरान उन्होंने संस्था की सिस्टर मैरी से पूरे घटना के विषय में जाना. वही मीडिया को संबोधित करते हुए बाबूलाल मरांडी ने कहा कि जिस तरह से अखबार में इस घटना के विषय में जुड़ी खबरों को देख रहा था जिज्ञासा हुई और जानकारी लेने आया हूं. उन्होंने कहा कि यहां आने के बाद मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि “निर्मल हृदय” मानवता का काम कर रहा है. यहां आने के बाद पता चला कि निर्मल हृदय के लोग सेवाभाव का काम कर रहे हैं. दिव्यांग, मानसिक रूप से विक्षिप्त और जरूरतमंद लोगों की सेवा निर्मल हृदय के द्वारा की जा रही है. यह किसी अस्पताल से कम नहीं है.

घोषणा कर भूल गयी सरकार – 14 जुलाई : साहब, दो साल बीत गये रांची कब बनेगी वाई-फाई सिटी

ईसाई मिशनरियों को बदनाम कर रही है सरकार

निर्मल हृदय के लोगों से जानकारी लेते बाबूलाल मरांडी

बाबूलाल मरांडी ने कहा कि सरकार के पास सारी एजेंसी मौजूद है. इसी बीच डीजी कहते हैं कि यह हमारे हाथ का नहीं इसकी जांच सीबीआई से होनी चाहिए. सरकार संस्था को बदनाम करने की कोशिश कर रही है. उन्होंने कहा कि यह राजनीति है जिसे सफल नहीं होने देंगे. मिशनरी संस्था मानवता की सेवा का काम कर रही है. बच्चों को बेचने की बातें जो सामने आ रही है यदि ऐसी घटना हुई है तो सरकार को उसकी जांच करानी चाहिए ना कि मीडिया ट्रायल कर बयानबाजी करना चाहिए. सरकारी इसे फ्रंट पेज न्यूज़ बनाकर इन्हें अपराधी साबित करना चाहती है. संस्था को बंद करने का बयान देकर सरकार जरूरतमंदों को बेसहारा करना चाहती है.

भारत रत्न वापस लेने की मांग राजनीतिक चाल

silk_park


बाबूलाल मरांडी ने कहा कि मदर टेरेसा या ईसाई मिशनरी ने कभी भारत रत्न की मांग नहीं की थी. उन्हें भारत रत्न से नवाजा गया था. यह भाजपा और संघ के लोग ऐसी राजनीति करते हैं. पहले तो कहते थे कि लावारिस बच्चों को पाल कर उन्हें नन और फादर बनाते हैं. बच्चा अग्रवाल दंपती को दे दिया गया तो वो नन और फादर कैसे बनेगा. उन्होंने इसे बीजेपी और आरएसएस की चाल बताया.

50 साल की सेवा एक पल में गलत साबित नहीं कर सकते: बंधु 

वहीं झाविमो महासचिव बंधु तिर्की ने कहा कि जो बातें सामने आ रही है इस पर जांच होनी चाहिए. शुरू में कहा गया कि 280 बच्चा गायब है. फिर सरकार का अधिकृत बयान आया है कि चार बच्चों में से तीन बच्चों को बरामद कर लिया गया है. अग्रवाल दंपती को बच्चा बेचने का आरोप अनीमा इंदवार और अस्पताल के कर्मचारी मधु पर लगाया गया है. ये बातें जांच के बाद कहनी चाहिए ना कि मीडिया ट्रायल कर दोषी ठहराया जाना चाहिए.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: