न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लेस्लीगंज बीडीओ को हटाने की मांग तेज, प्रमुख और मुखिया ने किया अनशन

दुर्व्यवहार का लगाया आरोप

370

Palamu:  झारखंड का पलामू जिला अक्सर विवादों में रहता हैं. जिले के लेस्लीगंज प्रखंड के बीडीओ सत्यम कुमार को हटाने की मांग तेज हो गयी है. गुरुवार से लेस्लीगंज प्रखंड के प्रमुख रमेश राम के अलावा कई पंचायतों के मुखिया अनशन पर बैठे हैं. कुछ माह पूर्व लेस्लीगंज बीडीओ के साथ पांकी विधायक देवेन्द्र कुमार सिंह की जोरदार भिड़ंत हुई थी. बीडीओ ने विधायक के धमकी भरे वीडियो को रिकार्ड कर वायरल कर दिया था.

इसे भी पढ़ेंःAICTE ने की छात्र ‘विश्वकर्मा अवार्ड’ की शुरूआत, तकनीकी शोध से छात्रों को जोड़ने की कोशिश

महिला मुखिया ने  बीडीओ पर दुर्व्यवहार का लगाया आरोप

hosp3

प्रमुख और मुखिया बीडीओ को हटाने और प्रखंड को बचाने की मांग को लेकर अनशन पर बैठे हुए हैं. पूर्णाडीह की मुखिया गुड्डी देवी ने कहा कि गत 24 जुलाई को पंचायत क्षेत्र में ग्राम स्वराज अभियान के दौरान बीडीओ द्वारा उनके साथ दुर्व्यवहार किया गया था. पंचायत क्षेत्र की स्थिति बयां करने पर बीडीओ द्वारा उसके हाथ से माइक लूट लिया गया था. ऐसे बीडीओ को प्रखंड कार्यालय में बने रहने का कोई अधिकार नहीं है. जब तक बीडीओ को लेस्लीगंज से नहीं हटाया जाता, तबतक बीडीओ को हटाने की मांग को लेकर आन्दोलन जारी रहेगा.

इसे भी पढ़ेंः क्या भारतीय राजनीति को आपराधिक तत्वों से मुक्त करने की दिशा में कदम उठाए जाएंगे

पांकी विधायक ने भी दिया समर्थन

पांकी विधायक देवेन्द्र कुमार सिंह ने प्रमुख और मुखिया के अनशन को नैतिक समर्थन दिया हैं. विधायक ने कहा कि लेस्लीगंज बीडीओ ने कभी भी जनप्रतिनिधियों के साथ समन्वय स्थापित कर काम नहीं करते हैं. जनप्रतिनिधियों को तरजीह नहीं देते तथा मनमानी भी करते हैं. योजनाओं में गति देने के बजाए विवादों को बढ़ाकर सुर्खियों में बने रहते हैं. ग्राम स्वराज अभियान के तहत योजनाओं में सुस्ती बरतने के आरोप में पिछले दिनों उपायुक्त द्वारा बीडीओ को फटकार भी लगाई जा चुकी है.

लेस्लीगंज प्रमुख समेत कई जनप्रतिनिधि बैठे हैं अनशन पर

प्रमुख के अलावा लेस्लीगंज के मुखिया धर्मेन्द्र सोनी, मुखिया सह मुखिया संघ के प्रखंड अध्यक्ष संतोष मिश्रा, पूर्णाडीह की मुखिया गुड्डी देवी भी अनशन पर बैठे हैं. मुखिया संघ के पलामू जिला अध्यक्ष उदय सिंह ने अनशनकारियों को माला पहनकार उनका स्वागत किया. साथ ही समर्थन की घोषणा की. प्रखंड क्षेत्र के कई समर्थक और कार्यकर्ता भी अनशकारियों को समर्थन देने के लिए अनशनस्थल पर बैठे हैं.

इसे भी पढ़ेंःवाई-फाई के नाम पर कहीं कमीशनखोरी का खेल तो नहीं खेल रहा उच्च शिक्षा विभाग

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: