West Bengal

केंद्र सरकार से एम्यूजमेंट पार्क खोले जाने की मांग, कारोबारियों के संगठन ने कहा- हो रहा है भारी नुकसान

Kolkata : देश के एम्यूजमेंट या मनोरंजन पार्कों के मालिकों ने सरकार से उन्हें परिचालन फिर शुरू करने की अनुमति देने की मांग की है. एम्यूजमेंट पार्क कारोबारियों का कहना है कि कोरोना वायरस की वजह से लागू अंकुशों की वजह से उन्हें भारी नुकसान हो रहा है, जिसके चलते उन्हें नौकिरयों में कटौती करनी पड़ सकती है. उन्होंने कहा कि रामोजी फिल्म सिटी सहित देश में ऐसे 150 पार्क हैं. ये पार्क 80,000 लोगों को प्रत्यक्ष और तीन लाख लोगों को अप्रत्यक्ष तरीके से आजीविका उपलब्ध कराते हैं.

इंडियन एसोसिएशन ऑफ एम्यूजमेंट पार्क्स एंड इंडस्ट्रीज (आइएएपीआइ) ने पहले ही केंद्रीय गृह मंत्रालय, स्वास्थ्य मंत्रालय, प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) तथा विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों को पार्कों में अपनायी जानेवाली मानक परिचालन प्रक्रिया (एसओपी) सौंप दी है.

इसे भी पढ़ें – उधर रूस ने कोरोना वैक्सीन लाने का ऐलान किया, इधर सोना-चांदी की कीमत में भारी गिरावट

advt

नौकरियों में कटौती करनी पड़ सकती है

आइएएपीआइ के अध्यक्ष अजय सरीन ने कहा कि लॉकडाउन की वजह से एम्यूजमेंट और वॉटर पार्क 15 मार्च से बंद हैं, जिससे उन्हें भारी नुकसान हो रहा है. देश के एम्यूजमेंट या मनोरंजन पार्कों ने सरकार से उन्हें परिचालन फिर शुरू करने की अनुमति देने की मांग की है. एम्यूजमेंट पार्क कारोबारियों का कहना है कि कोरोना वायरस की वजह से लागू अंकुशों की वजह से उन्हें भारी नुकसान हो रहा है, जिसके चलते उन्हें नौकिरयों में कटौती करनी पड़ सकती है.

इसे भी पढ़ें – क्या हवा में फैल गया है कोरोना वायरस, WHO ने आशंका जताते हुए दिया ये जवाब

2000 करोड़ का हो चुका है नुकसान

उन्होंने कहा कि रामोजी फिल्म सिटी सहित देश में ऐसे 150 पार्क हैं. ये पार्क 80,000 लोगों को प्रत्यक्ष और तीन लाख लोगों को अप्रत्यक्ष तरीके से आजीविका उपलब्ध कराते हैं. सरीन ने कहा कि यदि इन पार्कों को खोलने की अनुमति नहीं दी गयी जो बड़े पैमाने पर लोगों की नौकरियां जा सकती हैं. उन्होंने कहा कि अभी तक हमें करीब 2,000 करोड़ रुपये का नुकसान हो चुका है.

सरीन ने दावा किया कि एम्यूजमेंट पार्कों में भीड़ को आसानी से नियंत्रित किया जा सकता है और साथ ही सामाजिक दूरी का अनुपालन भी सुनिश्चित किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि वॉटर पार्क भी पूरी तरह सुरक्षित हैं क्योंकि किसी तरह के वायरस को समाप्त करने के लिए रसायनों का इस्तेमाल किया जाता है.

adv

इसे भी पढ़ें – कोलकाता का नटवरलाल विनोद शेख गिरफ्तार, बिहार और झारखंड में भी फैला है नेटवर्क

advt
Advertisement

4 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button