BiharLead News

बिहार में उठी गरीबों की जनगणना कराने की मांग, बीजेपी एमएलसी बोले- जातीय जनगणना से फैलेगा विद्वेष

Patna: बिहार में जातीय जनगणना को लेकर सियासत तेज हो गई है, एक तरफ नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव जातीय जनगणना को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात करने वाले हैं तो वहीं दूसरी तरफ बीजेपी एमएलसी संजय पासवान ने जातीय जनगणना को लेकर नया दांव खेला है.

 

इसे भी पढ़ें: अब लग सकती हैं Corona की दो अलग-अलग वैक्सींन, एसईसी ने ट्रायल को दी मंजूरी

advt

 

बीजेपी एमएलसी ने कहा कि गरीबों की स्थिति में बदलाव के लिए उनका सही आकलन बहुत ही जरूरी है. जेडीयू की तरफ से जातीय जनगणना की मांग उठाये जाने पर उन्होंने कहा कि यह उनका स्टैंड है, हमारा मानना यह है कि जातीय जनगणना से समाज में विद्वेष फैलेगा लेकिन गरीबी जनगणना होने से गरीबों को राहत मिलेगी.

इसे भी पढ़ें : कटिहार के मेयर की गोली मारकर हत्या, पंचायत कर लौट रहे थे घर

 

बीजेपी एमएलसी संजय पासवान रिक्शे पर सवार होकर गले में प्लेकार्ड लटका कर विधानसभा पहुंचे थे. उनका साफ तौर पर यह कहना है कि देश में अब तक कितने गरीब हैं इसकी संख्या किसी को मालूम नहीं है, ऐसे में जो लोग जातीय जनगणना करा कर समाज को बांटना चाहते हैं, उन्हें समझ लेना चाहिए कि देश में गरीबों की तादाद सबसे ज्यादा है इसलिए गरीबी जनगणना होनी चाहिए.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: