National

#DelhiViolence: IB कर्मचारी अंकित शर्मा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा, अनगिनत बार हुआ चाकू से वार

New Delhi: नागरिकता संशोधन एक्ट के नाम पर दिल्ली में फैली हिंसा अब थम गयी गयी. देश की राजधानी में अब शांति का माहौल है. लेकिन हिंसा के दौरान जो वारदात हुए अब उसके दर्द दिखने लगे हैं.

इस हिंसा में इंटेलिजेंस ब्यूरो (आइबी) के एक कर्मचारी अंकित शर्मा की भी मौत हो गयी थी. अंकित का पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आ चुका है. जिसमें अंकित पर कई बार चाकू मारे जाने की पुष्टि की गयी है.

इसे भी पढ़ें- 100 नंबर जल्द होगा बंद, अब डायल 112 से लेना होगा अग्निशमन, पुलिस और स्वास्थ्य सुविधा का सहयोग

SIP abacus

क्या है पोस्टमार्टम रिपोर्ट में

MDLM
Sanjeevani

उनकी मौत के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया था. पोस्टमार्टम रिपोर्ट अब आ चुका है और उसमें इस बात का खुलासा किया गया है कि अंकित के शरीर पर अनगिनत बार चाकू से बार किया गया था.

उनके सीने और पेट पर सबसे अधिक वार किया गया था. अंकित के शरीर पर चाकू के निशान मिले हैं जो कि इस बात को पुख्ता करते हैं कि उनपर चाकू से वार किया गया था. पोस्टमार्टम रिपोर्ट दिखाती है कि अंकित शर्मा की हत्या बेरहमी से की गयी. अंकित की हत्या कर उपद्रवियों ने क्रूरता का प्रदर्शन किया है.

इसे भी पढ़ें- #Bermo: उद्घाटन के एक माह बाद भी लोगों के लिए नहीं खोला जा सका फ्लाइओवर और जुबली पार्क

पिता ने दर्ज करायी FIR

अंकित की मौत के बाद उनके पिता ने एफआइआर दर्ज करायी है. इसके मुताबिक आइपीसी की धारा 302, 201, 365, 34 के तहत केस दर्ज किया गया है. एफआइआर में लिखा गया है कि अंकित 25 फरवरी की शाम 5 बजे घर से बाहर सामान लेने गया था, जिसके बाद काफी वक्त बीत जाने के बाद भी जब वह घर वापस नहीं लौटा तो उसकी खोज शुरू की गयी. काफी तलाश के बाद भी जब वह नहीं मिला तो 26 फरवरी को उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करायी गयी. लापता होने की रिपोर्ट पर पुलिस ने अंकित की खोज शुरू की और फिर गोताखारों की मदद से अंकित की लाश मिली.

पिता ने बेटे के गुनहगारों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की मांग की है. उनका कहना है कि बेटे के हत्यारों को जल्द गिरफ्तार कर उनपर कार्रवाई की जाये. दंगे में उन्होंने अपने छोटे बेटे अंकित को खो दिया. इसकी वजह से उनका पूरा परिवार सदमे में है.

इसे भी पढ़ें- RJD के साथ नजदीकियों पर JDU ने कहा- हम NDA के साथ मजबूती से हैं

आरोपी पार्षद को आप ने किया निलंबित

अंकित की हत्या में शामिल रहने का आरोप लगने के बाद दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी ने अपने पार्षद ताहिर हुसैन को पुलिस जांच पूरा होने तक पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है. आप सूत्रों ने इसकी जानकारी दी.

अंकित शर्मा दिल्ली के दंगा प्रभावित चांद बाग इलाके में एक नाले में बुधवार को मृत पाये गये थे, जहां वह रहते थे. अंकित के पिता की शिकायत के आधार पर पुलिस ने गुरूवार को हुसैन के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की. हालांकि हुसैन ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को खारिज किया है.

उन्होंने कहा कि मुझे खबरों से पता चला कि मुझ पर एक व्यक्ति की हत्या का आरोप लगाया जा रहा है. यह झूठ और निराधार है. हमारी सुरक्षा के लिए मेरा परिवार और मैं सोमवार को पुलिस की मौजूदगी में अपने घर से चले गये थे. गुरुवार को हुसैन के घर की छत से पेट्रोल बम, पत्थर और ईंटे मिली हैं.

उन्होंने कहा कि मैंने हिंसा को रोकने का काम किया. मैं निर्दोष हूं. मैंने लोगों को अपनी दीवार पर चढ़ने से रोका. 24 फरवरी को पुलिस ने मेरे घर की तलाशी ली और हमें वहां से हटा दिया. बाद में हम एक सुरक्षित स्थान पर चले गये. 25 फरवरी शाम चार बजे तक पुलिस इमारत में मौजूद थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button