National

#JamiaViolence को लेकर दिल्ली पुलिस ने अपनी बात रखी, VC ने उच्चस्तरीय जांच की मांग की

विज्ञापन

NewDelhi :  जामिया हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपनी बात रखी.  दिल्ली पुलिस के पीआरओ एमएस रंधावा ने मीडिया से कहा कि विरोध प्रदर्शन में जामिया के छात्रों के साथ-साथ बाहरी लोग शामिल थे. की. साथ ही कहा कि  पुलिस द्वारा कोई गोली नहीं चलाई गयी है.

हिंसा की वजह से किसी की जान नहीं गयी है.  रंधावा ने लोगों से अफवाहों से बचने और सावधान रहने की अपील की. रंधावा ने कहा, छात्र चिंता न करें, किसी बहकावे में न आयें. कार्रवाई  सिर्फ उन्हीं के खिलाफ की जायेगी जो गैरकानूनी काम में शामिल थे.

स्थिति पूरी तरह से पुलिस के कंट्रोल में थी, उसके बाद…

एमएस रंधावा ने कहा कि 13 दिसंबर से विरोध प्रदर्शन शुरू हुआ था. 14 दिसंबर को भी प्रदर्शन हुआ.  स्थिति पूरी तरह से पुलिस के कंट्रोल में थी. रंधावा के अनुसार  रविवार को दो  से चार बजे के बीच प्रदर्शनकारी माता मंदिर मार्ग इलाके तक आ गये और बसों में आग लगा दी.  इसके बाद पुलिस ने भीड़ को जामिया नगर की तरफ खदेड़ना चालू किया.

advt

रंधावा ने कहा कि दिल्ली पुलिस प्रदर्शनकारियों को वापस जामिया की ओर भेज रही थी तो प्रदर्शनकारी और इलाके के लोग विश्वविद्यालय कैंपस में घुस गये थे और पथराव शुरू कर दिया था. ऐसे में दिल्ली पुलिस के कुछ लोग कैंपस में घुसे थे.

इसे भी पढ़ें :  #PMModi ने कहा, नागरिकता संशोधन कानून पर बहस, चर्चा लोकतंत्र का हिस्सा, पर हिंसात्मक विरोध-प्रदर्शन दुर्भाग्यपूर्ण

प्रदर्शनकारी कैंपस के अंदर से बल्ब और ट्यूबलाइट फेंक रहे थे

दिल्ली पुलिस ने कहा कि जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय कैंपस के पास भी प्रदर्शनकारियों ने पथराव शुरू कर दिया. प्रदर्शनकारियों की ओर से कैंपस के अंदर से बल्ब और ट्यूबलाइट फेंके जा रहे थे. इसके बाद भी दिल्ली पुलिस भीड़ को जामिया में पुश कर रही थी, इसी दौरान छात्रों के साथ-साथ जामिया इलाके के कुछ लोग भी जामिया कैंपस में इंट्री कर गए थे, जिनके पीछे-पीछे दिल्ली पुलिस भी घुस गयी थी. हालांकि अभी इस मामले की जांच हो रही है.

इसे भी पढ़ें :  #CAAProtests: असम में मंगलवार तक इंटरनेट सेवा पर रोक

चार डीटीसी बसों, 100 से ज्यादा निजी वाहनों में आग लगा दी

रंधावा ने कहा कि  प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर बल्ब, ट्यूबलाइट और बोतलें फेंकना शुरू किया.  रास्ते में एक हॉस्पिटल पर भी पथराव किया गया.  बताया कि प्रदर्शनकारियों ने चार डीटीसी बसों, पुलिस मोटरसाइकिल के साथ-साथ 100 से ज्यादा निजी वाहनों बाइक और कार में आग लगा दी.

उन्होंने बताया कि मामले में दो एफआईआर दर्ज हुई है.  इसमें क्राइम ब्रांच जांच करेगा.  रंधावा ने बस वाली घटना पर सफाई देते हुए कहा कि अफवाह फैली कि पुलिस ने आग लगाई.बस का नंबर बताते हुए रंधावा ने कहा कि वह बस सही सलामत है. क्योंकि पुलिस ने उसमें लगी चिंगारी को बुझा लिया था.

पुलिस की मौजूदगी विश्वविद्यालय बर्दाश्त नहीं करेगा : वाइस चांसलर

दिल्ली की जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी की वाइस चांसलर प्रोफेसर नजमा अख़्तर ने विश्वविद्यालय के छात्रों पर हुई पुलिस की कार्रवाई की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है. साथ ही प्राथमिकी दर्ज कराने की बात कही .

नजमा अख़्तर ने इस संबंध में सोमवार को प्रेस कांफ्रेंस की. कहा कि विश्वविद्यालय परिसर में पुलिस की मौजूदगी को विश्वविद्यालय बर्दाश्त नहीं करेगा.  अख्तर ने  कहा, पुलिस बिना अनुमति के परिसर में दाखिल हुई थी. हम परिसर में पुलिस की मौजूदगी को बर्दाश्त नहीं करेंगे.

उन्होंने अपनी बर्बरता से छात्र-छात्राओं को डराया. विश्वविद्यालय की संपत्ति को बहुत अधिक नुकसान पहुंचा है.  संपत्ति को नुकसान पहुंचाने और छात्र-छात्राओं पर पुलिस की कार्रवाई के संबंध में हम प्राथमिकी दर्ज करायेंगे.  हम उच्चस्तरीय जांच चाहते हैं.

इसे भी पढ़ें : #CAAProtests : देश में जारी हिंसा को लेकर विपक्षी नेताओं ने कहा, इसकी जिम्मेदार सत्तारूढ़ पार्टी है, राष्ट्रपति से मिलेंगे

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close