न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

डिग्री विवादः स्मृति पर कांग्रेस के हमले का जवाब दिया जेटली ने, कहा- बिना मास्टर्स किये ही राहुल गांधी को मिल गयी एमफिल की डिग्री

287

New Delhi: अमेठी से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ रहीं स्मृति ईरानी की डिग्री पर कांग्रेस के हमले का जवाब शनिवार को वित्तमंत्री अरुण जेटली ने दिया. उन्होंने स्मृति ईरानी की शैक्षिक योग्यता पर सवाल उठाने के लिए कांग्रेस और उसके मुखिया राहुल गांधी पर तीखा हमला बोला. अरुण जेटली ने फेसबुक पर अपने ताजा ब्लॉग में कहा कि कांग्रेस यह भूल गई है कि गांधी की अकादमिक योग्यता की एक सार्वजनिक जांच से कई सारे प्रश्न खड़े हो सकते हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस अध्यक्ष ने बिना किसी मास्टर्स डिग्री के एमफिल कर ली है.

इसे भी पढ़ें – राहुल ने  फि‍र कहा, चौकीदार चोर है और 100 फीसदी चोर  है…

राउल विंसी के नाम पर है सर्टिफिकेटः स्वामी

जेटली से पहले भाजपा सांसद सुब्रमण्यन स्वामी ने राहुल गांधी पर आरोप लगाया था कि ‘उनका कैम्ब्रिज का सर्टिफिकेट कहता है कि उनका नाम राउल विंसी है और उन्होंने एमफिल किया है और नेशनल इकोनॉमिक प्लानिंग ऐंड पॉलिसी में फेल हैं.’ स्वामी ने कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी का एक सर्टिफिकेट भी ट्विटर पर पोस्ट किया था, जिसमें कहा गया है कि राउल विंसी को नेशनल इकोनॉमिक प्लानिंग ऐंड पॉलिसी में 58 प्रतिशत अंक मिले हैं, जबकि कुल 62.8 प्रतिशत अंक हासिल हुआ है. सर्टिफिकेट कहता है कि पासिंग मार्क 60 प्रतिशत है.

इसे भी पढ़ें – मोदी कृपा से फ्रांस सरकार ने अनिल अंबानी का अरबों का टैक्स माफ किया  : कांग्रेस  

चार पासपोर्ट रखने का आरोप लगाया

स्वामी ने इससे पहले राहुल गांधी पर 4 पासपोर्ट रखने के आरोप लगाए थे और कहा था कि उसमें से एक पासपोर्ट राहुल विंसी के नाम से है. उन्होंने कहा कि यह राहुल गांधी के फेल होने का सर्टिफिकेट है.  बता दें कि कांग्रेस ने स्मृति इरानी द्वारा शैक्षिक योग्यता के बारे में निर्वाचन आयोग को विरोधाभासी हलफनामे सौंपने के खिलाफ आयोग से शिकायत की थी. कांग्रेस ने इरानी के चुनावी हलफनामों में अलग-अलग शैक्षिक योग्यता बताने को लेकर तंज कसते हुए कहा कि एक नया सीरियल आनेवाला है- क्योंकि मंत्री भी कभी ग्रैजुएट थीं.

इसे भी पढ़ें – पार्टी में प्रदेश अध्यक्ष और प्रदेश प्रभारी ही सर्वोपरिः ददई दुबे

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्या आपको लगता है हम स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता कर रहे हैं. अगर हां, तो इसे बचाने के लिए हमें आर्थिक मदद करें.
आप अखबारों को हर दिन 5 रूपये देते हैं. टीवी न्यूज के पैसे देते हैं. हमें हर दिन 1 रूपये और महीने में 30 रूपये देकर हमारी मदद करें.
मदद करने के लिए यहां क्लिक करें.-

you're currently offline

%d bloggers like this: