न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

चुनाव में हार-जीत लगी रहती है, इससे हताश नहीं होना चाहियेः बाबूलाल मरांडी

1,294

Ranchi:  चुनाव में हार और जीत लगी रहती है, इससे हताश या निराश नहीं होना चाहिये, ये बातें झाविमो के केंद्रीय अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने झाविमो द्वारा रांची के सेलेब्रेशन हॉल में आयोजित एकदिवसीय केंद्रीय कार्यसमिति की बैठक में कही. उदाहरण देते हुए कहा कि अब्राहम लिंकन भी चार बार राष्ट्रपति का चुनाव हार गये थे. फिर पांचवीं बार में चुनाव जीता.

mi banner add

वे अमेरिका के 16वें राष्ट्रपति बने थे. इससे पहले वो दो बार सीनेट का चुनाव हार चुके थे. इसलिए हमें चुनाव में मिली हार से निराश नही होना चाहिए बल्कि सबक सीखनी चाहिए.  यह चिंतन करना चाहिए कि हमसे गलती कहां हुई. उसे दूर करके ईमानदारी पूर्वक जनता की सेवा में लग जाना चाहिए.

इसे भी पढ़ेंः लातेहारः रामचरण मुंडा की भूख से कथित मौत मामले में डीसी को शो कॉज

जनता लगन और मेहनत के बल पर देगी वोट

बाबूलाल ने कहा कि दिन जनता आपकी लगन और मेहनत महसूस करेगी, आपकी जीत होगी. कहा कि ये न भूलें कि जिस दल ने आज 300 का आंकड़ा पार किया है, और अपनी जीत पर इतरा रहा है वो भी कभी  दो सीटों तक सीमित था. लेकिन उनका लगातार संघर्ष आज उनको 300 के आकंड़ा के पार ले गया है.

ईवीएम पर बोले बाबूलाल    

ईवीएम मशीन के प्रयोग के बारे में उन्होंने कहा कि यह इलेक्ट्रॉनिक मशीन है. किसी भी मशीन में गड़बड़ी हो सकती है. इससे इनकार नहीं किया जा सकता है. आज दुनिया के विकसित देश ईवीएम मशीन का इस्तेमाल चुनाव में नहीं करते हैं वो बैलट पेपर से ही चुनाव कराते हैं. झाविमो भी इस मत से सहमत है कि अगला चुनाव भारत में अब बैलट पेपर से ही हो.

इसे भी पढ़ेंः सीएम रघुवर दास  स्मृति ईरानी से मिले,  झारखंड में  NIFT के स्थायी परिसर का होगा शिलान्यास  

केंद्रीय पदाधिकारियों का सामूहिक इस्तीफा

कल केंद्रीय पदाधिकारियों की बैठक में सभी केंद्रीय पदाधिकारीयों ने हार की नैतिक जिम्मेवारी लेते हुए अपने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. बाबूलाल मरांडी ने सबका इस्तीफा मंजूर करते हुए कहा कि जब तक नई टीम का गठन नही हो जाता है, तब तक सभी पदाधिकारी अपने-अपने पदों पर बने रहेंगे और काम करते रहेंगे.

गठबंधन गठबंधन को लेकर भी कर समिति में लाया गया प्रस्ताव

पार्टी अगला विधानसभा चुनाव अकेले लड़े या फिर गठबंधन के तहत लड़े, इस पर एक प्रस्ताव लाया गया जिसमें सर्वसम्मति से केंद्रीय अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी को निर्णय करने के लिए अधिकृत किया गया.

मरांडी ने कहा कि कोई भी राजनीतिक दल किसी अन्य दल से या दलों से गठबंधन करता है तो सिर्फ इसलिए कि इन दलों के वोट का बिखराव न हो. गठबंधन की जीत सुनिश्चित हो. उन्होंने सभी कार्यकर्ताओं को बधाई देते हुए कहा कि किसी भी दल ने जो महागठबंधन में शामिल थे, झाविमो के कार्यकर्ताओं के बारे में शिकायत नहीं की बल्कि आप सबों की लोगों ने तारीफ की.

इसलिए आप सब बधाई के पात्र हैं. अंत मे कहा कि संगठन को और मजबूत और धारदार बनायें और इसे नीचे बूथ स्तर तक मजबूत करें.

इसे भी पढ़ेंः रामगढ़ का शोभा हत्याकांड: 20 दिनों के बाद भी नहीं हुई हत्यारे की गिरफ्तारी, स्टूडेंट्स ने किया प्रदर्शन  

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: