JharkhandMain SliderRanchi

दीपमाला प्रकरण : प्रभारी आयुक्त की कार्मिक को रिपोर्ट, उचित फोरम पर दीपमाला ने नहीं रखी शिकायत

Ranchi : हजारीबाग की डिप्टी कलेक्टर दीपमाला प्रकरण में नया मोड़ आ गया है. प्रमंडल के प्रभारी आयुक्त मनोज कुमार झा ने मामले पर अपनी रिपोर्ट बनाकर कार्मिक विभाग को सौंप दी है. पूरी रिपोर्ट में साफ तौर से डिप्टी कलेक्टर दीपमाला की गलती मानी गयी है. कार्मिक विभाग के सूत्रों के मुताबिक, रिपोर्ट में प्रभारी आयुक्त ने कहा है कि दीपमाला ने सही फोरम पर अपनी शिकायत नहीं रखी. अगर उन्हें किसी बात को लेकर डीसी से शिकायत थी, तो उचित फोरम पर अपनी बात रखनी चाहिए थी. व्हाट्सएप ग्रुप में उन्हें इस तरह से कार्यालय की बात नहीं रखनी चाहिए थी. ऐसा कर दीपमाला ने कार्यालय की परंपरा को ताक पर रखने की कोशिश की है. इस रिपोर्ट के आधार पर अब कार्मिक विभाग दीपमाला पर कार्रवाई करने की तैयारी में है. गौरतलब है कि डिप्टी कलेक्टर दीपमाला ने हजारीबाग के डीसी रवि शंकर शुक्ला के खिलाफ झारखंड प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों के ग्रुप में नौ पन्ने का लेटर लिखकर पोस्ट किया था. उस लेटर में दीपमाला ने डीसी पर उनके साथ अच्छा व्यवहार नहीं करने का आरोप लगाया था. लेटर मीडिया में वायरल हुआ और अखबारों में इसे लेकर लंबी रिपोर्ट छपी. वहीं, सोशल मीडिया में भी इसे लेकर काफी बहस होने लगी.

इसे भी पढ़ें- महिला डिप्टी कलेक्टर का खुला पत्र- मेंटली टॉर्चर कर मेंटली स्ट्रॉन्ग बनाने के लिए थैंक्यू…

छुट्टी को लेकर गलत बात फैलायी गयी : रिपोर्ट

प्रमंडल के प्रभारी आयुक्त ने साफ तौर से अपनी रिपोर्ट में कार्मिक को लिखा है कि छुट्टी को लेकर दीपमाला ने चिट्ठी में बात छिपायी है. दीपमाला ने शुक्रवार को परीक्षा की तौयारी के लिए किताब खरीदने की बात बोलकर छुट्टी मांगी थी. डीसी रवि शंकर शुक्ला ने छुट्टी मंजूर कर ली थी. लेकिन, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन की वजह से शुक्रवार को सरकारी छुट्टी घोषित हो गयी. उसके बाद दीपमाला ने दोबारा व्हाट्सएप कर के डीसी से शनिवार को दोबारा छुट्टी मांगी. डीसी ने व्हाट्एसएप पर ही दीपमाला को जवाब दिया और छुट्टी नामंजूर कर दी. प्रभारी आयुक्त ने अपनी रिपोर्ट में यह भी लिखा है कि दीपमाला को अगर छुट्टी चाहिए थी, तो उसे आवेदन देकर डीसी से छुट्टी मांगनी चाहिए थी. व्हाट्एसएप पर छुट्टी मांगने की परंपरा गलत है.

इसे भी पढ़ें- लेटर नहीं लिखती तो मैं सुसाइड कर लेतीः डिप्टी कलेक्टर दीपमाला

बार-बार रात में ड्यूटी पर लगाने का आरोप गलत : रिपोर्ट

प्रमंडल के प्रभारी आयुक्त ने जो रिपोर्ट कार्मिक विभाग को दी है, उसमें उन्होंने कहा है कि एक साल में दीपमाला को अपर समाहर्ता के तौर पर चार बार ही ड्यूटी मिली है. उसमें एक दिन छठ में दिन में ड्यूटी लगी है. दुर्गा पूजा में एक ड्यूटी लगायी गयी थी, जो रात की थी. इसी तरह दो और सामान्य तरह की ड्यूटी उनकी लगायी गयी थी. ऐसे में डीसी पर बार-बार रात में ड्यूटी लगाने का आरोप गलत है.

इसे भी पढ़ें- दीपमाला के खुले पत्र पर सीएम गंभीर, दोनों अफसरों से सरकार मांगेगी जवाब, होगी कार्रवाई

आपको डर लगता था, तो किसी को बताया क्यों नहीं

अपनी रिपोर्ट में प्रभारी आयुक्त ने कहा है कि अगर रात की ड्यूटी करते वक्त उन्हें डर लगता था, तो उन्होंने डीसी, एसपी या फिर एसडीएम को इस बात की जानकारी क्यों नहीं दी. अगर कोई खतरा उनपर था, तो उन्हें सही तरीके से प्रशासन को इस बात की जानकारी देनी चाहिए थी और सुरक्षा के लिए कहना चाहिए था.

adv

जल्द ही होगी आगे की कार्यवाही : केके खंडेलवाल

कार्मिक विभाग के अपर मुख्य सचिव केके खंडेलवाल ने न्यूज विंग से कहा कि प्रमंडल के प्रभारी आयुक्त मनोज झा की रिपोर्ट कार्मिक विभाग को मिली है. रिपोर्ट का अवलोकन किया जा रहा है. जल्द ही इसे लेकर आगे की कार्यवाही होगी.

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: