JharkhandLead NewsNEWSRanchi

करंट लगने से मृत 3 बच्चों के परिजन से मिले दीपक प्रकाश, सरकार से मुआवजा व सरकारी नौकरी देने की मांग

Ranchi: प्रदेश भाजपा अध्यक्ष और सांसद दीपक प्रकाश आज बोडेया (रांची) गये. वहाँ 14 अगस्त को तिरंगा फहराने के क्रम में करंट लगने से मारे गए 3 बच्चों के परिजनों से भेंट की. पीड़ित परिवार से मिलकर ढांढस बंधाया. नाराज़गी जाहिर करते हुए कहा कि बिजली विभाग की लापरवाही से बच्चों की मृत्यु हुई है. इतने बड़े दुखद हादसे के बाद भी इनके परिवार की सुध लेने कोई सरकारी पदाधिकारी नहीं आया, न ही राज्य सरकार की तरफ से कोई आया. यह अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है. हेमंत सरकार से मांग करते कहा कि वह परिजन को क्षतिपूर्ति मुआवजा दे. साथ ही सरकारी नौकरी भी दे. दीपक प्रकाश ने सरकार से मांग करते यह भी कहा कि अविलंब दोषी पदाधिकारियों पर कार्रवाई हो. अब भी इस क्षेत्र में आवासीय व स्कूल परिसर के पास बहुत ही कम ऊंचाई पर 11 हजार वाट के तार लटके हैं.

 

विनीत, आरती और पूजा ने गंवायी थी जान

गौरतलब है कि रांची के कांके थाना क्षेत्र स्थित बोडेया इलाके में करंट लगने से 14 अगस्त को एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गयी थी. छत पर झंडा लगाने और उसे फहराए जाने की तैयारी के क्रम में करंट लगने की यह घटना हुई थी. 11 हजार वोल्ट के तार पर गिरे पड़े डंडे को सीधा करने के क्रम में विनीत हादसे का शिकार हो गया. उसे बचाने के क्रम में उसकी बहन आरती झा और पूजा झा भी चपेट में आकर जान गंवा बैठी थीं. आक्रोशित परिजनों ने आरोप लगाया था कि बिजली का तार घर बनाने के बाद बिजली विभाग ने बहुत करीब से निकाल दिया है. इसे हटाये जाने को उन्होंने विभाग के पास आवेदन भी किया था पर इसे नहीं हटाया गया और यह हादसा हुआ.

Related Articles

Back to top button