न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#Dedicated_Freight_Corridor_Corporation  का गलियारा 2021 में होगा शुरू, माल भाड़ा आधा होने की संभावना

120 मालगाड़ियों का संचालन करेंगे और इनकी कुल मालवहन क्षमता 13,000 टन होगी. मालगाड़ियों को 100 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार तक दौड़ायेंगे

117

NewDelhi : रेलवे का समर्पित मालवहन गलियारा 2021 में जब शुरू हो जायेगा तो इससे माल भाड़े में 50 प्रतिशत तक कमी आने की उम्मीद है. यह बात Dedicated Freight Corridor Corporation OF india Ltd (डीएफसीसीआईएल) के प्रबंध निदेशक अनुराग सचान ने कही.खबरों के अनुसार समर्पित मालवहन गलियारा देश के चार महानगर नयी दिल्ली, मुंबई, चेन्नई और कोलकाता को जोड़ने वाली स्वर्णिम चतुर्भुज परियोजना का ही हिस्सा है.

समर्पित मालवहन गलियारा परियोजना के तहत महाराष्ट्र के मुंबई में जवाहर बंदरगाह से हरियाणा के रेवाड़ी तक पश्चिमी और पंजाब में लुधियाना से पश्चिम बंगाल में कोलकाता के निकट दानकुनी तक पूर्वी रेल गलियारे बनाए जाने हैं. इनका उपयोग सिर्फ मालगाड़ियों के आवागमन के लिए होगा.

इसे भी पढ़ें : #Wajahat_Habibullah ने सुप्रीम कोर्ट में पेश की रिपोर्ट, कहा, शाहीन बाग में शांतिपूर्ण प्रदर्शन, पुलिस ने बेवजह रास्ता बंद किया

हम सभी मालगाड़ियों को 100 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार तक दौड़ायेंगे

पूर्वी समर्पित मालवहन गलियारा (ईडीएफसी) के एक निर्माण स्थल के दौरान सचान ने संवाददाताओं से कहा कि डीएफसीसीआईएल की ओर से वसूला जाने वाला माल भाड़ा भारतीय रेल के मुकाबले 50 प्रतिशत तक कम होगा. सचान ने कहा, हम सभी मालगाड़ियों को 100 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार तक दौड़ायेंगे, इसलिए मालभाड़ा भारतीय रेल की तुलना में काफी कम होगा. यह 50 प्रतिशत तक कम हो सकता है.

इसे भी पढ़ें :  ‘‘नमस्ते ट्रंप’’ कहने के लिए तैयार है अहमदाबाद, सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

Whmart 3/3 – 2/4

 प्रतिदिन दोनों तरफ से 120 मालगाड़ियों का संचालन होगा

हम प्रतिदिन दोनों तरफ से 120 मालगाड़ियों का संचालन करेंगे और इनकी कुल मालवहन क्षमता 13,000 टन होगी. उन्होंने कहा कि कंपनी रेल मंत्रालय से मालभाड़े में कमी का कुछ लाभ ग्राहकों को देने के लिए भी बातचीत कर रही है. हालांकि उन्होंने स्पष्ट किया कि कंपनी मालभाड़ा तय करने वाले नियामक की तरह काम नहीं करेगी.

सचान ने कहा कि हम इस गलियारे पर निजी कंपनियों को भी उनकी खुद की मालगाड़ी चलाने की अनुमति देंगे. इसके लिए विकसित देशों की तरह एक नियामकीय संस्था बनायी जायेगी और यह इन निजी कंपनियों के परिचालन के लिए कोई भेदभाव नहीं करेगी. इसकी वजह से निजी कंपनियों और भारतीय रेल के मालभाड़े के बीच प्रतिस्पर्धा होगी.

इसे भी पढ़ें : #CAA समर्थकों और विरोधियों के बीच पथराव, दिल्ली के कबीरनगर,जाफराबाद में भगदड़, पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े

 

न्यूज विंग की अपील


देश में कोरोना वायरस का संकट गहराता जा रहा है. ऐसे में जरूरी है कि तमाम नागरिक संयम से काम लें. इस महामारी को हराने के लिए जरूरी है कि सभी नागरिक उन निर्देशों का अवश्य पालन करें जो सरकार और प्रशासन के द्वारा दिये जा रहे हैं. इसमें सबसे अहम खुद को सुरक्षित रखना है. न्यूज विंग की आपसे अपील है कि आप घर पर रहें. इससे आप तो सुरक्षित रहेंगे ही दूसरे भी सुरक्षित रहेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like