Court NewsLead News

कांस्टेबल प्रतियोगिता परीक्षा में बीसी-2 को बीसी-1 में बदले जाने के मामले में फैसला सुरक्षित

Ranchi : कांस्टेबल प्रतियोगिता परीक्षा में बीसी-टू के अभ्यर्थियों को बीसी-वन में बदले जाने के मामले में दायर याचिकाओं पर झारखंड हाइकोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया. हाइकोर्ट के जस्टिस डॉ एसएन पाठक की अदालत में प्रार्थियों और झारखंड कर्मचारी चयन आयोग (जेएसएससी) की और से अपना पक्ष रखा गया. प्रार्थियों की ओर से अदालत को बताया गया कि कांस्टेबल परीक्षा में उनका चयन हुआ था. प्रमाण पत्रों के सत्यापन के समय उन्होंने बीसी-टू की जगह पर बीसी-वन का सर्टिफिकेट दिया था, लेकिन जेएसएससी ने उनकी अभ्यर्थितता रद्द कर दी थी.

इसे भी पढ़ें:GOOD NEWS : केंद्र सरकार ने 18 साल से ज्यादा उम्रवालों को कोरोना का बूस्टर डोज मुफ्त देने का किया फैसला

राज्य सरकार ने अधिसूचना जारी कर सुंडी, तेली सहित कई जातियों को बीसी-टू से बीसी-वन में शिफ्ट कर दिया था. इसलिए उन्होंने सत्यापन के समय बीसी-वन का सर्टिफिकेट दिया, लेकिन नहीं माना गया.

ram janam hospital
Catalyst IAS

जेएसएससी की ओर से बताया गया कि प्रार्थियों ने बीसी-टू में आवेदन दिया था. सत्यापन के समय उन्होंने बीसी-वन का सर्टिफिकेट प्रस्तुत किया था, जो विज्ञापन की शर्तों के अनुरूप नहीं था. बता दें कि प्रार्थी रतन कुमार, राजकुमार व अन्य की ओर से अलग-अलग याचिका दायर की गयी है.

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

इसे भी पढ़ें:रोड टैक्स माफी के लिए 15 जुलाई से लिये जायेंगे आवेदन

Related Articles

Back to top button