Education & Career

नीट और जेइइ परीक्षाओं को लेकर शुक्रवार को होगा फैसला, कमिटी की सिफारिश पर एमएचआरडी लेगी निर्णय

विज्ञापन

Ranchi : इंजीनियरिंग संस्थानों में एडमिशन के लिए जेइइ और मेडिकल संस्थानों में एडमिशन के लिए नीट परीक्षा ली जाती है. इस साल कोरोना की वजह से हुए लॉकडाउन ने इन परीक्षाओं पर भी संशय है. इस साल परीक्षा ली जाये या नहीं, इस पर शुक्रवार को निर्णय लिया जायेगा. केंद्रीय मानव संसाधन विकास विभाग की ओर से इसका निर्णय लिया जायेगा. केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल ने परीक्षाओं के संचालन को लेकर कमिटी गठित की है. यह कमिटी एनटीए (नेशनल टेस्टिंग एजेंसी) के डीजी की अध्यक्षता में गठित की गयी है. यह कमिटी अब शुक्रवार को अपनी सिफारिश देगी. इसके बाद परीक्षाओं के आयोजन का लेकर निर्णय लिया जायेगा.

इसे भी पढ़ें –Corona: गिरिडीह से 3 और लातेहार से 1 नये संक्रमित की पुष्टि, झारखंड का आंकड़ा 2529 पहुंचा

advt

जुलाई में होनी हैं दोनों परीक्षाएं

गौरतलब है कि जेइइ मेन और नीट परीक्षाओं की संभावित तारीख एमएचआरडी पहले ही जारी कर चुकी है. इस संभावित तिथि के अनुसार जेइइ मेन परीक्षा 18 से 23 जुलाई व नीट 26 जुलाई को होनी है. मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल की ओर से परीक्षाओं के आयोजन के संबंध में कहा गया कि वर्तमान हालातों और उम्मीदवारों व उनके अभिभावकों की ओर से लगातार आ रहे अनुरोधों के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि शुक्रवार को कमिटी अपनी सिफारिशें प्रस्तुत करेगा, इसके बाद परीक्षाओं को लेकर निर्णय लिया जायेगा.

इसे भी पढ़ें – मोदी ने पुतिन से की बात, भारत खरीदेगा 33 लड़ाकू विमान

झारखंड में 31 तक है लॉकडाउन

इन दोनों ही परीक्षाओं के लिए विभिन्न स्कूलों में परीक्षा केंद्र बनाये जाते हैं. परीक्षार्थियों को तीन शहर परीक्षा केंद्र के रूप में चुनने का विकल्प मिला है. ऐसे में उम्मीदवारों को परीक्षा केंद्र आने-जाने में दिक्कतें होंगी. चूंकि झारखंड सहित महाराष्ट्र, नगालैंड,  पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु जैसे राज्यों में लॉकडाउन 31 जुलाई तक बढ़ाया गया है. ऐसे में  इन राज्यों के स्टूडेंट्स ने इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेइइ मेन और मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट को टालने का अनुरोध किया था. इसके लेकर ट्वीटर पर कैंपेन भी चलाया गया. स्टूडेंट्स की मांग को ध्यान में रखते हुए एमएचआरडी की ओर से यह कदम उठाया गया है.

adv

इसे भी पढ़ें – Jharkhand : गंभीर बीमारी से पीड़ित 55 हजार मरीजों का होगा कोविड-19 टेस्ट

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close