न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

छह दिसंबर : अयोध्या छावनी में तब्दील, हिंदू संगठन शौर्य दिवस व मुस्लिम संगठन यौमे गम दिवस मनायेंगे

अयोध्या में आने वाले लोगों की कड़ी निगरानी की जा रही है. असामाजिक तत्वों पर कड़ी नजर रखने के निर्देश हैं. अयोध्या के होटल, गेस्ट हाउस, रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन एवं सराय पर भी आने-जाने वालों व ठहरने वालों की निगरानी की जा रही हैं.

34

Lucknow :  यूपी के अयोध्या में विवादित ढांचा ध्वस्त होने की 26वीं बरसी को लेकर  सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गये हैं.  जिले में धारा 144 लगा दी गयी है.  बता दें कि विवादित ढांचा गिराये जाने की बरसी के दिन छह दिसंबर को हिंदू संगठनों ने शौर्य दिवस तथा मुस्लिम संगठनों यौमे गम दिवस मनाने की घोषणा की है. इस कारण अयोध्या में सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद है.  जगह-जगह चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है. इस संबंध में पुलिस अधीक्षक नगर अनिल कुमार सिसौदिया ने बताया कि छह दिसंबर को 1992 को विवादित ढांचा ध्वस्त होने की 26वीं बरसी पर विभिन्न संगठनों ने कई कार्यक्रम आयोजित करने की घोषणा की है.  इसीके मद्देनजर अयोध्या में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गये हैं.  उन्होंने बताया कि सुरक्षा के लिए स्थानीय पुलिस बल के अलावा 12 अपर पुलिस अधीक्षक, 15 पुलिस उपाधीक्षक, 40 उपनिरीक्षक, 50 थानाध्यक्ष, 80 सब-इंस्पेक्टर, 100 कांस्टेबल समेत दस कंपनी पीएसी, आरएएफ की तैनाती की गयी है.

सुरक्षा बलों को सतर्कता बरतने के लिए निर्देश

विवादित श्रीराम जन्मभूमि परिसर के आसपास लगे सुरक्षा बलों को सतर्कता बरतने के लिए निर्देश दिये गये हैं. अयोध्या में आने वाले लोगों की कड़ी निगरानी की जा रही है.  असामाजिक तत्वों पर कड़ी नजर रखने के निर्देश  हैं.  अयोध्या के होटल, गेस्ट हाउस, रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन एवं सराय पर भी आने-जाने वालों व ठहरने वालों की निगरानी की जा रही हैं.   सिसौदिया ने बताया कि छह दिसंबर को आयोजित सभी कार्यक्रमों की वीडियोग्राफी तथा फोटोग्राफी कराने के साथ-साथ सादी वर्दी में फोर्स तैनात की गयी है.  सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए इसे चार जोन तथा नौ सेक्टरों में बांटा गया है.  चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाकर्मी तैनात हैं.  अयोध्या के चारों तरफ बैरियर लगाकर सघन चेकिंग की जा रही है.  जगह-जगह सीसीटीवी कैमरे लगाये गये हैं.  ड्रोन से भी निगरानी की जा रही है.

बाबरी विध्वंस के आरोपी तथा धर्मसेना के अध्यक्ष संतोष दूबे के नेतृत्व में  छह दिसंबर को सैकड़ों की संख्या में धर्मसेना सरयू के किनारे राम की पैड़ी पर पांच घंटे का उपवास करेगी.  इस बीच विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) मुख्यालय कारसेवकपुरम में शौर्य दिवस नहीं मनाने की घोषणा की है.  वहीं दूसरी तरफ कुछ हिन्दू संगठनों ने छह दिवस को शौर्य दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की है.  दूसरी ओर मुस्लिम संगठनों ने अपने व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रखकर यौमे गम दिवस मनाने का निर्णय लिया है.

इसे भी पढ़ेंःभारत के सबसे भारी उपग्रह जीसैट-11 की सफल लॉन्चिंग, बेहतर होगी इंटरनेट सेवा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: