न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बस के कुचलने से एक की मौत, शरारती तत्वों ने बस में आग लगायी- यात्रियों से लूटपाट

मामले की जांच में जुटी पुलिस

130

Dhanbad: तेज रफ्तार का कहर एकबार फिर धनबाद में देखने को मिला. जहां धनबाद से दुमका जा रही मां तारा बस से टकराकर एक बाइक सवार की मौत हो गयी. मंगलवार सुबह हुए इस हादसे के बाद शरारती तत्वों ने बस में आग लगा दी. इस दौरान बस में सवार यात्रियों से लूटपाट की. जिसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई है.

इसे भी पढ़ेंःCBI विवादः अपने ट्रांसफर के खिलाफ SC पहुंचे एके बस्सी, अस्थाना घूसकांड की SIT जांच की मांग

बताया जा रहा है कि धनबाद से खुलनेवाली इस बस में आठ-दस यात्री ही सवार थे. ज्ञात हो कि इस बस से धनबाद से कीमती सामान रोज भेजे जाते थे. इसमें कीमती धातु, दवाएं सहित अन्य सामान होने की बात कही जा रही है. लूटे गये सामान का आकलन लाखों में किया जा रहा है. इसके बाद भी इस लूट की शिकायत दर्ज करने किसी का संबंधित बरवाअड्डा थाना नहीं पहुंचना संदेह पैदा करता है. धनबाद स्टेशन स्थित बस ठहराव पर भी इस लूट की जानकारी देनेवाला कोई उपलब्ध नहीं हुआ.

कोई एफआईआर नहीं

हादसे के बाद खड़ी बस

बस पर मां तारा बस के साथ मिहिजाम से गोड्डा, पालोजोरी, दुमका, हंसडीहा पेंटिंग कर सुंदर सजावट में लिखा था. इसके नीचे धनबाद जैसे-तैसे लिखा गया था. बता दें कि इस मालिक की सुबह और शाम दो बस इस रूट पर चलती है. दुर्घटनाग्रस्त बस को आनन-फानन में घटना वाले स्थल से हटा दिया गया. बस का नंबर जेएच 04 डी 9985 है. सवाल है कि क्या महज एक घंटे में एमवीआई, इंश्योरेंस आदि की जांच पूरी कर ली गयी. या दाल में कुछ काला है? बस को धनबाद तक चलाने का परमिट था कि नहीं? बरवाअड्डा थाने में दोपहर साढ़े बारह बजे बताया गया कि अभी तक मामले को लेकर कोई एफआईआर दर्ज नहीं की गयी है. प्रक्रिया चल रही है.

इसे भी पढ़ेंःबाहुबली नेता मोहम्मद शहाबुद्दीन को ‘सुप्रीम’ झटका, उम्रकैद की सजा बरकरार

सूचना मिलते ही हरकत में आयी बरवाअड्डा पुलिस

बस यात्रियों से लूटपाट

बरवाअड्डा पुलिस ने घटना स्थल पर पहुंच कर उग्र लोगो को शांत करवाया. शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिये पीएमसीएच भेज दिया है. दमकल गाड़ी ने बस में लगी आग बुझायी. मृतक की पहचान झारुडीह निवासी रेल कर्मी धर्मेंद्र कुमार के रूप में हुई है. मृतक अपने घर झारुडीह से अपनी बाइक से बिग बाजार की ओर जा रहा था. घटना के बाद बस का ड्राइवर और खलासी मौके से फरार हो गये.

बच सकती थी जान

स्थानीय लोगो की मानें तो, झारुडीह निवासी धर्मेंद्र कुमार की बाइक की गति अधिक थी. उसने हेलमेट भी नहीं पहनी थी. धर्मेंद्र की बाइक सीधे बस से जा टकराई और सिर में गहरी चोट आने से उसकी मृत्यु हो गई. अगर धर्मेंद्र ने बाइक चलते समय सिर में हेलमेट पहना होता तो शायद धमेंद्र जीवित रहता. सड़क दुर्घटना में धर्मेंद्र कुमार की मौत होने की खबर परिजनों को दी गई. सूचना मिलते ही परिजनों में चीत्कार मच गया है.

इसे भी पढ़ेंःसीबीआई के बाद आरबीआई में खींचतानः बैंक के कामकाज में ना दखल दें सरकार

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: