JharkhandNEWSPalamuTop Story

माइंस के गहरे पानी में डूबने से बच्चे की मौत, भड़के लोग तीन वाहनों को जलाया

विज्ञापन

Palamu: पलामू जिले में भीषण गर्मी पड़ रही है. वही ग्रामीण बच्चे माइंस के गहरे पानी में उतरने से भी परहेज नहीं कर रहे हैं. पीपरा थाना क्षेत्र अंतर्गत चपरवार के खुले माइंस में गहरे पानी में नहाने के दौरान डूबने से एक बच्चे की मौत हो गयी. जबकि दो बच्चे बाल-बाल बच गये. घटना के बाद स्थानीय ग्रामीण काफी उग्र हो गये हैं. और माइंस के कार्यालय में तोड़फोड़ कर दी. वही तीन वाहनों को आग के हवाले कर दिया है.

सूचना मिलने पर पीपरा पुलिस मौके पर रवाना हो गयी है. छतरपुर के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी शंभू कुमार सिंह ने बताया कि स्थिति पर नियंत्रण पाने के लिए पुलिस घटनास्थल पर कैंप कर रही है. घटना आनंद सिंह के माइंस पर हुई है. बच्चे की पहचान हो गयी है.

माइंस से सटे धूसरुआ गांव के पप्पू यादव का 12 वर्षीय पुत्र रवि रंजन कुमार के रूप में की गयी. बच्चे वहां कैसे पहुंचे उसकी जांच की जा रही है. ग्रामीणों से भी शांति बनाए रखने की अपील की गयी है.

इसे भी पढ़ेंः जून के बाद जिला आपूर्ति पदाधिकारियों पर सीधी कार्रवाई, जिनके यहां किसानों का भुगतान लंबित : सरयू राय

ये है पूरी घटना

जानकारी के अनुसार चपरवार माइंस से सटे धुसरुआ गांव के तीन बच्चे गर्मी से परेशान होकर आनंद सिंह के माइंस में पहुंचे और वहां पानी में नहाने के लिए उतर गये. इसी बीच एक बचा पानी की गहराई में समा गया. जबकि दो बच्चे किसी तरह वहां से बाहर निकल आये. बाद में किसी तरह से घर पहुंचे और घटना की जानकारी परिजनों को दी.

बड़ी संख्या में ग्रामीण माइंस कार्यालय में पहुंचे और बच्चे की खोजबीन की तो बच्चा नहीं मिला. फिर लोग उग्र हो गए और कार्यालय में तोड़फोड़ की. एक एक करके 2 हाईवा और एक छोटी वाहन में आग लगा दी. आग से वाहनों को भारी नुकसान पहुंचा है. नुकसान का आकलन किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ेंः पानी की विकराल समस्या : पानी का टैंकर देखते ही दौड़ पड़ते हैं वाल्मीकि बस्ती के लोग

फायर ब्रिगड की गाड़ियां रवाना की गयीं

इधर घटना की सूचना मिलने पर छतरपुर से दमकल के वाहन गाड़ियों में लगी आग को बुझाने के लिए दमकल के वाहन रवाना हो गये हैं. घटनास्थल प्रखंड मुख्यालय से करीब 10 किलोमीटर दूर है. ग्रामीणों का आरोप है कि माइंस जैसे तैसे नियम विरूद्ध चलाया जा रहा था. जिससे जो डेंजर एरिया था. उसे घेराबंदी नहीं की गयी थी. माइंस प्रबंधन की लापरवाही से बच्चे की मौत हो गयी.

इसे भी पढ़ेंः शादी समारोह में गुपचुप खाने को लेकर हुई मारपीट, एक की मौत, कई घायल

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: