न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

विचाराधीन कैदी की इलाज के दौरान मौत, परिजनों ने मुआवजा के लिए किया हंगामा

प्रेम-प्रसंग के एक मामले में पिछले आठ माह से सेंट्रल जेल में था बंद

41

Palamu : मेदिनीनगर सेंट्रल जेल के एक कैदी की शुक्रवार को इलाज के दौरान मौत हो गयी. कैदी की पहचान जिले के चैनपुर थाना क्षेत्र के कुई निवासी ज्ञानी सिंह (22 वर्ष) के रूप में हुई है. ज्ञानी प्रेम-प्रसंग के एक मामले में पिछले आठ माह से सेंट्रल जेल में बंद था. उसके केस का ट्रायल चल रहा था.

सीने में दर्द के बाद तोड़ा दम  

कैदी ज्ञानी सिंह शुक्रवार की तड़के सीने में दर्द हुआ. इसके बाद उसकी हालत खराब हो गयी. आनन-फानन में उसे इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया. उसने दम तोड़ दिया. शव का सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम किया गया. शव को पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया गया है।

जेल से इलाज कर सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया था : जेल अधीक्षक  

जेल अधीक्षक प्रवीण कुमार ने बताया कि ज्ञानी चैनपुर थाना कांड संख्या 80/2017 आइपीसी की धारा 376/420 का आरोपी था. उसे गत 2 जुलाई 2018 से सेंट्रल जेल में लाया गया था. शुक्रवार की तड़के तीन बजे भोर में उसकी छाती में दर्द की शिकायत हुई. तत्काल उसका जेल चिकित्सक डॉ. वीरेंद्र कुमार से इलाज कराया गया. लेकिन उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए बेहतर इलाज के लिए सदर अस्पताल भेजा गया. जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी. जेल अधीक्षक ने बताया कि शव का पोस्टमार्टम के बाद रिपोर्ट आने पर मौत के कारणों का स्पष्ट पता चल सकेगा.

SMILE

परिजनों ने किया हंगामा, मुआवजा मांगा

विचाराधीन कैदी की मौत की सूचना मिलने के बाद उसके परिजन सदर अस्पताल पहुंचे और हंगामा करने लगे. परिजनों ने जिला प्रशासन से उचित मुआवजा की मांग की है. ज्ञानी चैनपुर थाना क्षेत्र के कुई गांव का रहने वाला था.

इसे भी पढ़ें : 14 वर्षों तक मिलीजुली सरकारों का दंश झेल चुकी है राज्य की जनता, गठबंधन सरकार से बचे: सीएम

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: