न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लापरवाहीः तार-पोल गिरने के तीन दिन बाद भी नहीं काटा लाइन, करंट लगने से किशोर की मौत, सात घंटे तक सड़क जाम

267

Gharwah: रविवार की रात आये तूफान से पलामू प्रमंडल में भारी तबाही मची थी. कई बिजली के पोल टूट कर गिर गये थे और तारों को नुकसान पहुंचा था, लेकिन उसे दुरुस्त करने या फिर गिरे तारों और पोल से बिजली काटने की दिशा में विद्युत विभाग की ओर से अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गयी. इस लापरवाही के कारण मंगलवार को एक किशोर को जोरदार करंट लग गया, जिससे उसकी मौत हो गयी.

इसे भी पढ़ें- झारखंड डीएमएफ में 3700 करोड़ हुए जमा, लाभार्थियों की पहचान के बिना 1744 करोड़ खर्च

बकरी चराने निकला था किशोर

गढ़वा जिलान्तर्गत नगर उंटारी थाना क्षेत्र के जतपुरा गांव में बकरी चराने निकले मनोज राम के पुत्र सूरज राम (14 वर्ष) की मौत करंट लगने से हो गयी. घटना के बाद जम कर हंगामा हुआ. एनएच 39 (पुराना 75) को दोपहर 12 बजे तक जाम रखा गया. बाद में मुआवजा भुगतान का आश्वासन देकर जाम हटाया गया.

इसे भी पढ़ें – पलामू: माइंस लीज रद्द करने की मांग पर ग्रामीणों ने घेरा समाहरणालय, मुखिया पर फर्जीवाड़े का आरोप

जतपुरा हाइस्कूल के पास गिरा था तार

तूफान में अपग्रेडेड हाइस्कूल जतपुरा के समीप महुआ का एक बड़ा पेड़ गिर गया था. उक्त पेड़ में गांव के कुछ लोगों मोटर चलाने के लिए नंगा तार बांध कर लाइन खींच कर ले गये थे. पेड़ टूटने के कारण तार भी टूट कर नीचे गिर गया था. बकरी चराने के दौरान सूरज कुमार उक्त तार की चपेट में आ गया, जिससे उसकी मौत हो गयी. खेलने गये बच्चों ने अचेत अवस्था में सूरज को देखा तो शोर मचाया. शोर सुन कर पहुंचे ग्रामीण आनन-फानन में सूरज को उठा कर अस्पताल ले गये, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया.

इसे भी पढ़ें – नेशनल सब जूनियर हॉकी चैंपियनशिप में ओड़िशा को 8-1 से हरा कर झारखंड महिला हॉकी टीम सेमी फाइनल में पहुंची

दो लाख रुपया मुआवजा के आश्वासन पर माने ग्रामीण

घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने लापरवाह बिजली कर्मियों पर केस दर्ज करने और मुआवजा की मांग को लेकर एनएच को जाम कर दिया. जाम स्थल पर भाजपा नेता मुक्तेश्वर पांडेय, बसपा नेता दिनेश राम, सुरेश्वर राम, प्रभु राम, हरि राम, किशन राम, राजकुमार राम सहित अन्य लोगों ने विद्युत विभाग के अधिकारियों और बीडीओ अमित कुमार से सरकारी प्रावधान के तहत 2 लाख रुपये मुआवजा देने की मांग की. अधिकारियों द्वारा मुआवजा दिये जाने का आश्वासन देने के बाद सात घंटे बाद जाम हटाया गया.

इसे भी पढ़ें – कैबिनेट का फैसलाः राज्य सरकार के कर्मियों एवं पेंशनरों का डीए 3 फीसदी बढ़ा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: