Lead NewsNationalNEWSTOP SLIDER

बीमार है अंडरवर्ल्ड सरगना दाऊद इब्राहिम, यूरोप में करा रहा है इलाज

उत्तराधिकारी के चयन की भी चल रही है चर्चा, बेटा, दामाद और भाई दौड़ में आगे

New  Delhi: अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम इन दिनों काफी बीमार चल रहे हैं. मीडिया को खबरें मिल रही है कि वह पाकिस्तान छोड़कर फिलहाल यूरोप में छुपकर रह रहा है. वहीं इलाज भी करा रहा है. यह भी खबर मिल रहा है कि उसने अपने उत्तराधिकारी की तलाश शुरू कर दी है. वह एसे योग्य व्यक्ति की तलाश में है जो डी कंपनी के देश-विदेश में फैले कारोबार को संभाल सके.

 

यह भी बताया जा रहा है कि उसे पाकिस्तान से फिलहाल बाहर रहे की सलाह पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई ने दी है. माना जा रहा है कि  पाकिस्तान को फाइनैंशल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) की ब्लैकलिस्ट में आने से बचाने के लिए यह कदम उठाया गया है. 26 दिसंबर को दाऊद का जन्म दिन होता है. इस दिन उसके कराची स्थित घर में सन्नाटा पसरा रहा.

 

दाऊद के करीबी सूत्रों का कहना है कि अंडरवर्ल्ड डॉन की तबीयत सचमुच बहुत खराब है, इसलिए उत्तराधिकारी की खोज शुरू हुई है. अपने जीते जी कारोबार का उत्तराधिकार तय नहीं कर देने से दावेदारों के बीच खून की जो नदी बहेगी, उसका अंदाजा दाऊद को है. कुछ दिन पूर्व दाऊद के कोरोना संक्रमित होने की भी खबर आई थी. इससे पहले चर्चा थी कि वह गैंगरीन से पीड़ित हैं.

इसे भी पढ़ेंःजानिये, किस आतंकी संगठन ने ली मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक रखने की जिम्मेदारी

उत्तराधिकारी की दौड़ में ये

मोईन नवाजः  दाऊद का एकमात्र बेटा है. डी कंपनी के लोगों का मानना है कि मोईन शरीफ आदमी है, इससे डी कंपनी का राजपाट चल पाना संभव नहीं है. हालांकि, यह भी कहा जा रहा है कि दाऊद मोईन को तैयार करने के लिए हर उपक्रम कर रहा है. मोईन ब्रिटेन में डी कंपनी की जायदाद व धंधे को संभाल रहा है.

जुनैद मियांदादः  जुनैद दाऊद की सबसे बड़ी बेटी माहरुक का पति है. पूर्व क्रिकेटर जावेद मियांदाद का बेटा है. जुनैद शातिर व चौकस है. डी कंपनी को आगे बढ़ाने में सक्षम भी है. दाऊद की गुडबुक में भी है. लेकिन दाऊद परिवार के लोग इसे बाहरी मानते हैं. इसका विरोध भी है.

छोटा शकीलः  परिवार का नहीं होने के बावजूद शकील को ही अपना उत्तराधिकारी बनाना चाहता है दाऊद. डी कंपनी का भारत में सारा कामकाज छोटा शकील ही देखता है. इसका विरोध भी कम है और कंपनी का आधार भी भारत में है.

अनीस और मुस्तकीम कासकरः दाऊद के दो भाई अनीस और मुस्तकीम खुद को डी कंपनी के मालिकाने का सबसे काबिल हकदार समझते हैं. दोनों दाऊद के साथ हर वक्त खड़े रहते हैं. यदि परिवार के ही व्यक्ति को कमान देने पर सहमति बनती है तो दोनों में से कोई एक डी कंपनी को संभाल सकता है.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: