JamshedpurJharkhand

अंधविश्वास का अंधेरा : नौ पुरुषों का सिर मुड़ा, महिलाओं के काटे नाखून, परामर्श केंद्र से न्याय की गुहार

Saraikela-Kharsawan : अंधविश्वास एक ऐसी आग है जो लोगों को दिन-प्रतिदिन जलाती ही जाती है. सदियों से चलती आ रही ये आग जाने कब से लोगों को बर्बाद कर रही है और ना जाने आगे कब तक बर्बाद करेगी. इसी अंधविश्वास का एक उदाहरण सरायकेला-खरसावां जिले में भी देखने को मिला. जहां गांव के दबंगों ने अंधविश्वास के नाम पर इंसानियत की हद पार कर दी.

इन दबंगों ने गांव के 12 परिवारों को डायन बताकर उनके यहां के पुरुष और महिलाओं को घसीटते हुए ग्रामीणों के बीच लेकर आए और फिर उनमें से नौ पुरुषों के बाल मुंडवा दिए और साथ ही सात महिलाओं के नाखून काट दिए. घटना जिले के राजनगर थाना क्षेत्र के छोटा कृष्णपुर गांव की है.

इस घटना से लोगों में डर इतना ज्यदा था कि उन्होंने पुलिस को इस बात की सूचना तक नहीं दी और ना ही शिकायत दर्ज करायी. हालांकि उन्हीं में से एक महिला ने परामर्श केंद्र में आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है. जिसके बाद पूरा मामला सामने आया.

Catalyst IAS
ram janam hospital

क्या है आवेदन में

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

पीड़ित महिला ने आवेदन में पंचायत के मुखिया, वार्ड सदस्य समेत 14 ग्रामीणों के खिलाफ शिकायत की है. महिला ने आवेदन में कहा है कि इन सभी लोगों ने घटना की सूचना पुलिस को देने पर जान से मारने की धमकी दी है.

साथ ही कहा कि आरोपियों ने इस घटना के पहले ही उसे डायन बताकर स्कूल के रसोईया के पद से हटा दिया. लेकिन स्कूल के शिक्षकों ने इसका विरोध तक नहीं किया.

जांच में जुटी पुलिस

घटना के बारे में एसपी चंदन सिन्हा ने कहा कि उन्हें मामले की जानकारी नहीं है. फिलहाल इस बारे में पता लगाया जा रहा है. लेकिन अगर इस तरह की कोई घटना हुई है तो आरोपियों के खिलाफ जरूर कार्रवाई की जाएगी.

 

Related Articles

Back to top button