न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

चलने लायक कंपनियों को बंद होने देना खतरनाकः आईबीबीआई प्रमुख

731

New Delhi: भारतीय दिवाला और शोधन अक्षमता बोर्ड (Insolvency and Bankruptcy Board of India- आईबीबीआई) के एक शीर्ष अधिकारी ने बंद होती कंपनियों पर चिंता जाहिर की है. बोर्ड प्रमुख एम एस साहू ने शनिवार को कहा कि चलने लायक कंपनियों को बंद होने देने का परिणाम खतरनाक होगा.

उन्होंने कहा कि कर्जदाताओं की समिति (सीओसी) को दिवाला प्रक्रिया का सामना कर रही कंपनियों के बारे में पूरी जरूरी जानकारी उपलब्ध करानी चाहिए एवं उनको लेकर अपना दृष्टिकोण प्रस्तुत करना चाहिए.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

दिवाला एवं ऋण शोधन अक्षमता संहिता (आईबीसी) के तहत समाधान के लिए भेजी जाने वाली दबाव वाली संपत्तियों की संख्या में वृद्धि के बीच आईबीबीआई प्रमुख साहू ने कहा कि कानून दिवाला प्रक्रिया के दौरान गलतियों को सुधारने का मौका भी उपलब्ध कराता है.

Related Posts

#Dedicated_Freight_Corridor_Corporation का गलियारा शुरू होते ही  70 प्रतिशत मालगाड़ियों को जाम से निजात मिलेगी

देश में मालवाहक रेलगाड़ियों की गति को 100 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंचाने का लक्ष्य तय किये जाने के साथ ही भारतीय रेलवे के 70 प्रतिशत मालवहन बोझ के खत्म होने की उम्मीद है.

साहू ने कहा कि कानून का लक्ष्य ऐसी कंपनियों को बचाना है, जो चल सकती हैं. इसी तरह ऐसी कंपनियों को बंद करना है, जो नहीं चल सकती हैं.

आईबीबीआई प्रमुख ने साथ ही कहा कि सीओसी को समाधान के लिए आवेदन करने वालों को सभी जरूरी जानकारी उपलब्ध कराने चाहिए, ताकि उन्हें कंपनियों में दिलचस्पी पैदा हो सके.

उन्होंने उद्योग मंडल एसोचैम की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम के इतर यह बात कही.

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like