दंगल #Twitter का

दंगल #Twitter काः भारत में क्यों ट्रेंड कर रहा #गूगल_सर्च_मत_करिये, google व पीएम मोदी का इससे क्या है रिश्ता, क्यों भड़के हैं समर्थक

NewsWing Desk: Twitter पर शनिवार की सुबह से क्या ट्रेंड कर रहा है? वह है #गूगल_सर्च_मत_करिये. भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इससे क्या है रिश्ता. मोदी के समर्थक google से क्यों भड़के हुए हैं. अब तक तो यही कहा जाता था कि कुछ भी जरुरी जानकारी जुटानी हो, तो गूगल पर सर्च करिये. पर ऐसा क्या हो गया कि मोदी समर्थक और उनके कई विरोधी भी गूगल पर भड़क गये हैं.

इसे भी पढ़ेंः#CoronaOutbreak: देश में टूटा अब तक का सारा रिकॉर्ड, एक दिन में 7,964 नये केस, 265 की मौत

इसकी जानकारी हम देंगे आपको. पर, पहले यह जान लें कि गूगल के बारे में लोग क्या कह रहे हैं. इसमें गूगल की कोई गलती है या नहीं. क्या गूगल ने ऐसा कुछ जानबूझ कर किया है. या सबकुछ इंटरनेट की दुनिया का कमाल है.

advt

खुद को कोरोना वॉरियर बताने वाले सुदेश कुमार ने #गूगल_सर्च_मत_करिये का इस्तेमाल करते हुए लिखा हैः

adv

आपने कुछ ट्वीट पढ़ लिये. अब आते हैं असल मुद्दे पर. दरअसल मामला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जुड़ा हुआ है. गूगल के इमेज सेक्शन में जाकर अगर आप “Who is the most stupid prime minister in world सर्च करते हैं, तो आपको सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर दिखती है.

यह कैसे हुआ. यह आम लोगों का समझना मुश्किल है. दरअसल यह टेक्नोलॉजी के कारण हुआ है. इससे पहले भी हुआ था. जब हम Who is the most wanted in the world  सर्च करते थे, तब सबसे पहली तस्वीर मोदी जी की आती थी.

इसे भी पढ़ेंः#EconomyRecession: वित्त वर्ष 2019-20 की चौथी तिमाही में GDP घटकर 3.1 %, बुरा दौर आना बाकी

दरअसल, यह सब इंटरनेट SEO यानी सर्च इंजन ऑप्टिमाईजेशन की वजह से हुआ है. हुआ यह है कि अमेरिका के एक वेबसाइट रियूटर्स में प्रकाशित एक लेख बहुत ही पोपुलर हो गया है.

लेख का शीर्षक हैः Why work with india’s new leade ? It’s the economy, Stupid. यह रिपोर्ट अमेरिका के फॉरेन पॉलिसी को लेकर लिखी गयी है. जिसमें कहा गया है कि चूंकि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारतीय अर्थव्यवस्था को शीर्ष पर ले जाने की ताकत रखते हैं, इसलिये अमेरिका को भारत की वाहवाही करनी चाहिये.

गूगल ने इस मामले में सफाई देते हुए कहा है कि कौन सी तस्वीर सबसे पहले दिखे, इसे गूगल तय नहीं करता है. बल्कि सर्च के रिजल्ट इसे तय करते हैं. रियूटर्स के लेख में दिये गये मेटा टैग के कारण यह हो रहा है. चूंकि लेख में स्टूपिड शब्द है और लेख में प्रधानमंत्री मोदी का भी जिक्र है. इसलिये सर्च में लोगों को प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर सबसे ऊपर दिखती है.

इसे भी पढ़ेंःJ&K: कुलगाम में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच सर्च ऑपरेशन के दौरान मुठभेड़

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button