JharkhandLead NewsNationalRanchiTOP SLIDER

Cyclon Jawad : जवाद चक्रवात को लेकर अलर्ट, NDRF की टीमें तैनात, घबराएं नहीं

Ad
advt

Ranchi : चक्रवाती तूफान ‘जवाद’ तेजी से बढ़ रहा है. अनुमान है कि ये तूफान आंध्र प्रदेश और ओडिशा के पुरी जिले के तटीय इलाकों से टकराएगा. इस तूफान का असर देश के अलग-अलग हिस्सों में पड़ेगा. लेकिन इससे सबसे ज्यादा आंध्र प्रदेश और ओडिशा प्रभावित होंगे. जानमाल के संभावित नुकसान से बचने के लिए आंध्र प्रदेश सरकार राज्य में अलर्ट घोषित कर दिया है. स्कूल- कॉलजों के साथ कई ट्रनों को रद कर दिया गया है. इसके अलावा बंगाल और ओडिशा में भी अलर्ट जारी कर दिया गया है. मौसम विभाग ने तीनों राज्यों में रेड अलर्ट जारी किया है.  ओडिशा के पूरी में भी चक्रवात तूफान जवाद को लेकर चेतावनी जारी की गई है. सभी मछुआरों को समुद्र में ना जाने की सलाह दी गई है.

advt

मौसम विभाग IMD के अनुसार चक्रवात जवाद बंगाल के पश्चिम-मध्य खाड़ी में विशाखापत्तनम से लगभग 230 किमी दक्षिण पूर्व, गोपालपुर से 340 किमी दक्षिण, पुरी से 410 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम और पारादीप से 490 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में केंद्रित है.

 

जवाद की वजह से आज ओडिशा से लेकर आंध्र प्रदेश के इलाकों में बारिश होगी. इसके साथ ही इस दौरान उत्तरी महाराष्ट्र, गुजरात और पश्चिमी तटीय इलाकों में भी भारी बारिश की संभावना जताई गई है. इस बीच, लगभग 46 राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) की टीमों को ओडिशा, पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश में 46 टीमों को तैनात किया गया है.

एनडीआरएफ के पूर्व डीजी सत्य नारायण प्रधान ने ट्विटर पर एक फोटो शेयर करते हुए लिखा है “NDRF की टीम चक्रवाती तूफान जवाद से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है.”

आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने बताया कि चक्रवात के शनिवार को सुबह उत्तरी आंध्र प्रदेश और ओडिशा तट के पास पश्चिमी-मध्य बंगाल की खाड़ी पहुंचने की संभावना है. इसके बाद यह ओडिशा और निकटवर्ती आंध्र प्रदेश के तट के पास उत्तर-पूर्वोत्तर की ओर बढ़ेगा और पांच दिसंबर को दोपहर तक पुरी के आसपास के तट पर पहुंचेगा.

सैंड आर्टिस्ट सुदर्शन पटनायक ने पुरी बीच पर कलाकृति बनाकर लोगों को चक्रवात जवाद के प्रति जागरूक करते दिखे, उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि प्राकृतिक आपदा से घबराये नहीं, सुरक्षित रहें.

चक्रवात का असर झारखंड में भी

चक्रवात जवाद के कारण झारखंड के दक्षिणी, उत्तर-पूर्वी, मध्य भाग और इसके समीप के इलाके में हल्के दर्जे की बारिश के आसार हैं. इस दौरान कुछ स्थानों पर 30 से 40 किमी प्रति घंटे की गति से सतही स्तर पर हवा का बहाव हो सकता है. चक्रवात के कारण शुक्रवार को झारखंड के दक्षिणी भाग में दोपहर के बाद आसमान में हल्के बादल छाने लगे थे. मौसम केंद्र के अनुसार देर रात तक बादल और घने हो गए. शनिवार और रविवार को बारिश की संभावना है.

इसके अलावा पूर्वी एवं पश्चिमी सिंहभूम, सरायकेला-खरसावां, सिमडेगा, रांची, खूंटी, गुमला, धनबाद, देवघर, गिरिडीह, जामताड़ा, पाकुड़, गोड्डा, साहिबगंज में कुछ स्थान पर हल्के दर्जे की बारिश होने के आसार हैं. जवाद तूफान के मद्देनजर रेलवे और बिजली विभाग दोनों अलर्ट मोड में है. ‘जवाद’ से निपटने के लिए एनडीआरएफ ने 64 टीमों को तैनात किया है.

advt
Adv

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: