न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

हजारीबाग सदर अस्पताल की सीएस डॉ ललिता वर्मा के पति का ऑडियो हुआ वायरल, कहा – विजिलेंस-तिजिलेंस कुछ नहीं है….तुम भी कमाओ और पैसे पहुंचाते जाओ, सुनें ऑडियो

सिविल सर्जन डॉ ललिता वर्मा के पति डॉ संजीव कुमार वर्मा और अस्पताल कर्मी के साथ पैसे देने से संबंधित है पूरा ऑडियो

2,101

Hazaribagh:  जिले में पदस्थ सदर अस्पताल की सिविल सर्जन डॉ ललिता वर्मा के पति डॉ संजीव कुमार वर्मा का एक ऑडियो वायरल हो गया है. दरअसल डॉ संजीव सदर अस्पताल के ही कर्मी अभय कुमार वर्मा से फोन पर बातें कर रहे हैं और अपनी पत्नी डॉ ललिता वर्मा को हर महीने 10 हजार रूपये देने का दबाव बना रहे हैं. ऑडियो 14 मिनट का है और यह सोशल मीडिया में वायरल हो गया है. इस वायरल ऑडियो से सदर अस्पताल से लेकर जिले के सरकारी महकमे में हड़कंप मचा हुआ है.

इसे भी पढ़ें –  अपराधियों ने किया हेंदेगीर के स्टेशन मास्टर और पोर्टर का अपहरण,  छोड़ा, रेलवे ट्रैक पर बम लगाया

 रुपये पहुंचाओ और खूब पैसे कमाओ

हजारीबाग सीएस डॉ ललिता वर्मा के पति संजीव कुमार वर्मा  यूपी के सोनभद्र जिले में सरकारी अस्पताल के आरसीएच पदाधिकारी के पद पर कार्यरत हैं. 14 मिनट के ऑडियो में डॉ संजीव कुमार वर्मा और सदर अस्पताल कर्मी अभय कुमार वर्मा अपनी पत्नी को प्रति माह दस हजार रुपये देने का दबाव बना रहे हैं. इस ऑडियो में बातचीत के दौरान डॉ संजीव कह रहे हैं कि तेरा मालिक खुश रहेगा, तभी तो तुम खुश रहोगे इसलिए पैसे देते जाओ और तुम भी खूब पैसे कमाओ. इससे आगे ऑडियो में डॉ संजीव ने कहा है कि हम मैडम को बोल दिए हैं. मंत्री जी के पास मैडम की छवि खराब हो रही है और यार तुम समझो इसको.

सीएस पति कर्मियों पर पैसा के लिए बनाते हैं दबाव

Related Posts

लातेहार : सदर हस्पताल में 2018 में 23 एड्स पीड़ित पाये गये, 2015 से अब तक रोगियों की संख्या 52

लातेहार सदर हस्पताल में 2015 से अब तक इलाज करने पहुंचे कुल 21158 रोगियों में 52 रोगी एड्स रोग से पीड़ित पाये गये हैं

सदर अस्पताल के कर्मी अभय कुमार वर्मा ने जिले के उपायुक्त रवि शंकर शुक्ला को लिखित आवेदन जिया है. आवेदन में अभय ने ऑडियो वाली घटना से उपायुक्त को अवगत कराते हुए कहा है कि, सर सदर अस्पताल के सभी कर्मचारियों पर सीएस के पति डॉ संजीव के द्वारा मैडम को प्रतिमाह पैसा देने का दबाव बनाया जाता है. जिससे अस्पताल के सभी कर्मचारी डरे-सहमे हुए हैं. ऑडियो वाली घटना के बाद से कर्मी अभय कुमार वर्मा मानसिक रूप से परेशान है. इधर सीएस पर आरोप लगाने के बाद सीएस ने अभय को निलंबित करने का आदेश जारी कर दिया. वहीं अभय के  निलंबन की जानकारी मिलत् ही डीसी ने सीएस को आदेश दिया है कि उसे तत्काल निलबंन मुक्त करें. इस पूरे मामले में सीएस का कहना है कि मेरे पति निर्दोष हैं और साजिश के तहत उन्हें फंसाया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें – लोकसभा चुनाव : अयोग्य उम्मीदवारों की अपडेटेड सूची पास में रखेंगे निर्वाची पदाधिकारी

 सचिव ने दिए जांच के आदेश

इधर मामले को गंभीरता से लेते हुए स्वास्थ विभाग के सचिव नितिन मदन कुलकर्णी के जांच आदेश के बाद उपायुक्त रवि शंकर शुक्ला ने स्वास्थ विभाग को जांच रिपोर्ट भेज दिया है. जांच में लिखा है कि ऑडियो की सत्यापन की गई. उस ऑडियो में सीएस डॉ ललीता वर्मा के पति डॉ संजीव कुमार वर्मा द्वारा अस्पताल कर्मी पर हर महीने दस हजार रुपये देने का दबाव बनाया गया, जिससे कर्मी मानसिक रूप से परेशान है. वंही उपायुक्त ने विभाग से सीएस डॉ ललिता वर्मा और उनके पति डॉ संजीव कुमार वर्मा पर भी विभागीय कार्रवाई करने की भी अनुशंसा की है.

इसे भी पढ़ें – ग्राम सभाओं को मिले पूर्ण अधिकार, अनुमंडल और जिला स्तरीय समितियां ग्राम सभा की अनुशंसाओं को मानें :…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: