न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लातेहारः सीआरपीएफ ने युवतियों को दिया मुफ्त प्रशिक्षण और सिलाई मशीन

1,329

Latehar:  लातेहार जिले के नक्सलग्रस्त इलाकों में तैनात केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के जवान इलाके में बेरोजगारी दूर करने के लिए कोशिश कर रहे हैं. इसके लिए कौशल प्रशिक्षण योजना की मदद ली जा रही है. इसकी सभी ओर सराहना हो रही है. गौरतलब है कि लातेहार का कभी अति नक्सलग्रस्त इलाका हुआ करता था. सरयू ओरया एवं कोने ग्राम में चार साल पहले पिकेट की स्थापना की गयी है. इसका जिम्मा केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल 214 के जवानों को दिया गया है. नक्सल के सफाये का अभियान तो चला लेकिन इलाके में बेरोजगारी की समस्या जस की तस बनी हुई है. इसे देखते हुए सीआरपीएफ इलाके की 12 युवतियों का चयन किया. उन्हें कौशल प्रशिक्षण के तहत सिलाई की ट्रेनिंग दी गयी. इस ट्रेनिंग में माउंटेने सहारा सोसाइटी ने सहयोग किया. युवतियों को दो माह की ट्रेनिंग दी गयी. इसका कोई शुल्क नहीं लिया गया. ट्रेनिंग के बाद युवतियों के बीच सिलाई मशीन का निःशुल्क वितरण किया गया.

इन युवतियों को मिली सिलाई मशीन और ट्रेनिंग

सरस्वती कुमारी, ग्राम ओरया, कुनमुन देवी, ग्राम तरवाडी, सुनीता कुमारी, ग्राम सरयू, पुष्पा देवी, ग्राम लाइ, खुशबू बीबी, ग्राम घसितोला, नीलम कुमारी, ग्राम कोटाम, रेणु देवी, ग्राम सरयू, आरती कुमारी, ग्राम सरयू, सुमंती कुमारी, ग्राम चोरहा, सुकृता कुमारी, ग्राम नवागढ़, राधा देवी, ग्राम तरवाडी एवं रीमा कुमारी ग्राम नवागढ़.

hosp3

युवतियां किसी पर आश्रित न हों : कमांडेंट अजय सिंह

सुरक्षा बल केंदीय रिजर्व पुलिस बल के कमांडेंट अजय सिंह ने बताया कि नक्सल उन्मूलन के साथ-साथ हमारे सामने कई चुनौतियां हैं. इनको नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है. सीआरपीएफ की ओर से हर वर्ष सिविक एक्शन कार्यक्रम चलाया जाता है. इसके तहत बेरोजगार युवतियों को ट्रेनिंग दी जाती रही है. ताकि महिलाएं किसी और पर आश्रित नहीं रहें, वे स्वालम्बी बन सकें और अपने परिवार की देखभाल कर सकें.

इसे भी पढ़ेंः 13 सालों में टाटा को देने थे 325 करोड़, दिये सिर्फ 25, फिर भी सरकार फ्री में दे रही है टाटा को अस्पताल के लिए जमीन

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: