World

सऊदी अरब के crown-prince #MohammedBinSalman ने #JournalistKhashoggi की हत्या का आदेश देने के आरोप खारिज किये  

NewYork : सऊदी अरब के वली अहद  (क्राउन प्रिंस) मोहम्मद बिन सलमान ने एक टेलीविजन साक्षात्कार में कहा कि वह पत्रकार जमाल खशोगी की निर्मम हत्या की पूरी जिम्मेदारी लेते हैं लेकिन इस बात से इनकार किया कि उन्होंने इस हत्या के आदेश दिये थे.

सलमान (34) ने रविवार को प्रसारित हुए 60 मिनट के एक साक्षात्कार में कहा, यह जघन्य अपराध था लेकिन सऊदी अरब का नेता होने के नाते मैं पूरी जिम्मेदारी लेता हूं खासतौर से इस बात की कि सऊदी अरब सरकार के लिए काम करने वाले लोगों ने इसे अंजाम दिया.

द वाशिंगटन पोस्ट में लेखों के लिए आलोचकों के निशाने पर रहने वाले खशोगी की हत्या का आदेश दिये जाने के बारे में पूछने पर उन्होंने जवाब दिया, बिल्कुल नहीं. उन्होंने कहा कि हत्या एक गलती थी. जान लें कि खशोगी तुर्की मूल की अपनी मंगेतर से शादी करने के लिए जरूरी दस्तावेज जमा करने के लिए दो अक्टूबर 2018 को तुर्की में सऊदी वाणिज्य दूतावास गये थे.

इसे भी पढ़ें : #ChinmanyanadCase: #PriyankaGandhiVadra ने कहा, रेप के आरोपी को बचाने के लिए किसी भी हद तक गिर सकती है योगी सरकार  

सऊदी सरकार के एजेंटों ने वाणिज्य दूतावास के भीतर खशोगी की हत्या कर दी थी

सऊदी सरकार के एजेंटों ने वाणिज्य दूतावास के भीतर खशोगी की हत्या कर दी थी तथा उनके शव को क्षत-विक्षत कर दिया जो कभी बरामद नहीं किया गया. सऊदी अरब ने हत्या मामले में 11 लोगों पर आरोप लगाया और उन पर मुकदमा चलाया. हालांकि अभी तक किसी को भी सजा नहीं मिली है.

शक्तिशाली वली अहद ने साक्षात्कार में कहा, कुछ लोग सोचते हैं कि मुझे यह पता होना चाहिए कि सऊदी अरब के लिए काम करने वाले 30 लाख लोग रोजाना क्या कर रहे हैं. उन्होंने कहा, यह असंभव है कि 30 लाख लोग नेता और सऊदी अरब में दूसरे शीर्ष व्यक्ति को अपनी दैनिक रिपोर्ट भेजे.

इसे भी पढ़ें : इतिहास के पुनर्लेखन लेखन के जरिये आरएसएस के नजरिये को देश में लागू करना चाहती है भाजपा   

प्रिंस मोहम्मद बतायें कि जमाल को क्यों मारा गया?

न्यूयॉर्क में गुरुवार को एक साक्षात्कार में खशोगी की मंगेतर हैटिस सेंगिज ने द एसोसिएटेड प्रेस से कहा कि खशोगी की हत्या की जिम्मेदारी केवल उसे अंजाम देने वाले लोगों की नहीं है और वह चाहती है कि प्रिंस मोहम्मद बतायें कि जमाल को क्यों मारा गया? उनका शव कहां है? इस हत्या के पीछे का मकसद क्या था?

उन्होंने इस साक्षात्कार में 14 सितंबर को सऊदी अरब की तेल कंपनियों पर मिसाइल तथा ड्रोन हमले पर भी बात की. यमन के ईरान समर्थित हूती विद्रोहियों ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है लेकिन सऊदी अरब ने कहा कि इसमें कोई शक नहीं है कि यह ईरान प्रायोजित हमला था.

इसे भी पढ़ें :   #2002GujaratRiots की पीड़िता #BilkisBano को दो सप्ताह में 50 लाख मुआवजा, नौकरी और घर दे गुजरात सरकार : SC  

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: