न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

झरिया पर संकट, निकली तिरंगा यात्रा

66

Jhariya(Dhanbad) : सालों से सौतेलेपन का व्यवहार झेल रही झरिया की जनता के पेट पर जब चोट पड़ने लगी तो बुधवार को उनके सब्र का बांध टूट गया. बिजली, पानी, विस्थापन और चारों ओर खदानों से घिरे और प्रदूषण से त्रस्त जनता उस समय सड़क पर आक्रोशित होकर उतर पड़ी, जब बुधवार को प्रशासन ने झरिया थानांतर्गत लक्ष्मनिया मोड़ से बाटा मोड़ तक अतिक्रमण हटाना शुरू कर दिया. इस दौरान सड़क किनारे लगी हुई दर्जनों दुकानों को हटा दिया गया. आक्रोशित दुकानदारों ने इसका विरोध किया. इसके बाद उन्हें दो दिनों की मोहलत दी गयी है.

उपायुक्त को सौंपा ज्ञापन

गुरुवार को आक्रोशित झरिया के दुकानदारों ने झरिया पर आये संकट और अतिक्रमण के विरोध में झरिया से धनबाद उपायुक्त कार्यालय तक पैदल तिरंगा यात्रा निकाली. यात्रा झरिया से शुरू होकर बैंक मोड़, रांगाटांड से लुबी सर्कुलर रोड होते हुए रणधीर वर्मा चौक पहुंची. इसके बाद उपायुक्त से मिलकर अतिक्रमण हटाये जाने का ज्ञापन सौंपा. बताते चलें कि झरिया में इन दिनों अतिक्रमण हटाया जा रहा. अतिक्रमण हटाने की शुरुआत पिछले दिनों गांधी रोड से हुई थी. 3 दिन पूर्व यह अभियान झरिया के सब्जी पट्टी में जिला प्रशासन ने चलाया. जिला प्रशासन के अतिक्रमण का बुलडोजर देख सभी दुकानदार काफी आक्रोशित हो गए थे और अतिक्रमण हटाने का विरोध भी किया था. इस दौरान झरिया के सभी दुकानदारों ने विरोध में अपनी दुकानें भी बंद रखी.

वर्षों से दुकान लगाकर परिवार चला रहे हैं अब अचानक से कहां जाएं : दुकानदार

कई सालों से दुकान लगाकर अपने परिवार का भरण-पोषण करते आ रहे हैं. दुकान हटा देने से हमारा रोजगार छीन जायेगा. ऐसे में हम क्या करेंगे और कहां जायेंगे. इससे पूरा परिवार भुखमरी के कगार पर आ जायेगा.यह झरिया के दुकानदारों ने अपनी व्यथा सुनाते हुए कहा.

आनेवाले चुनाव में जनता सरकार को जवाब देगी : अनूप साव

अतिक्रमण के विरोध करते हुए पूर्व पार्षद अनूप साव ने स्थानीय सांसद और विधायक को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि वह झरिया की परेशानियों के प्रति उदासीन हैं. वे लोग मूकदर्शक बने हुए हैं. आने वाले चुनाव में झरिया की जनता इसका जवाब जरूर देगी.

इसे भी पढ़ें : सरकार ने पारा शिक्षकों को दिया 48 घंटे की मोहलत

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: