न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गांडेय बीडीओ पर हमले के दोषी शीघ्र होंगे गिरफ्तार : डीआईजी

बीडीओ गोलीकांड की जांच करने गिरिडीह पहुंचे डीआईजी पंकज कंबोज, घटनास्थल का किया मुआयना

284

Giridih: गांडेय बीडीओ पर जानलेवा हमले के मामले की जांच और जानकारी लेने के लिए हजारीबाग जोन के डीआईजी पंकज कंबोज रविवार को गिरिडीह पहुंचे. उन्होंने गांडेय पहुंचकर घटनास्थल का मुआयना किया और पुलिस अधिकारियों को जरूरी दिशा निर्देश दिए.

इसे भी पढ़ें- मसानजोर डैम की तरफ आंख उठाकर देखने वाले की आंखें निकाल ली जायेगीः लुईस मरांडी

ब्लॉक परिसर का एक क्वार्टर संदेह के घेरे में

hosp3

गांडेय से लौटकर डीआईजी पंकज कंबोज गिरिडीह पुलिस लाइन में प्रेस से मुखातिब हुए. उन्होंने कहा कि मामला बेहद पेचीदा और संवेदनशील है. घटनास्थल की जांच के बाद कई तरह के तथ्य उभरकर सामने आ रहे हैं. उन्होंने कहा कि जांच पड़ताल में ब्लॉक परिसर का एक क्वार्टर संदेह के दायरे में है. वर्षों से उस क्वार्टर में एंटी सोशल लोगों की आवाजाही रही है. उस क्वार्टर से अवांछित गतिविधियां संचालित होती रही हैं. क्वार्टर से बीयर की बोतल और गांजा आदि बरामद किया गया है. उन्होंने कहा कि इन्हीं गतिविधियों में शामिल लोगों ने गोलीबारी की घटना को अंजाम दिया है.

इसे भी पढ़ें-सरना और ईसाई समुदाय के लोगों ने ठोका भाजपा से जुड़े लोगों पर मुकदमा

पुलिस की सहायता न लेना बीडीओ की गलती

डीआईजी पंकज कंबोज ने कहा कि गांडेय बीडीओ प्रभाकर मिर्धा ने पुलिस बल की सहायता ना लेकर स्थानीय लोगों से अवांछित तत्वों के खिलाफ मदद ली, जिसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा है. अगर समय रहते उन्होंने थाने को इस मामले से अवगत कराया होता, तो शायद घटना टल सकती थी. अभी कई अन्य तथ्य भी हैं, जिस का खुलासा जांच पूरी होने के बाद किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें- देहरादून, राजस्थान, पिठौरागढ़ से जालंधर तक फैला है राज्य के IFS अफसरों का साम्राज्य

जांच के लिए विशेष टीम गठित

डीआईजी ने कहा कि इस मामले की जांच के लिए एक विशेष टीम गठित की गई है. इस टीम में एसडीपीओ मनीष टोप्पो, डीएसपी वन पीके मिश्रा आदि शामिल हैं. उन्होंने कहा कि टीम की जांच रिपोर्ट के बाद ही नतीजा निकाला जाएगा. प्रेस वार्ता में एसपी सुरेंद्र कुमार झा समेत अन्य कई पुलिस अधिकारी मौजूद थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: