JharkhandRanchi

स्थानीयता नीति के लिए कमिटी बनाना आई वाश जैसा, विशेष सत्र बुलाकर बहस करायें सीएम : बंधु तिर्की

Ranchi  :   पूर्व के स्थानीयता नीति में संशोधन कर नये तरीके से नीति बनाने के लिए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कमिटी बनाने की बात की थी. उनके इस निर्णय का मांडर विधायक बुंध तिर्की ने स्वागत किया है. उन्होंने कहा है कि राज्य की जनता के लिए यह काफी हर्ष का विषय है. लेकिन कमिटी गठित करना केवल एक आई वाश करने जैसा है.

ऐसा इसलिए, क्योंकि पूर्व के सरकारों (मधु कोड़ा सरकार, हेमंत सोरेन सरकार) में भी ऐसी ही कमिटी बनी थी. कमिटी गठित करने से बेहतर है कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन विधानसभा का विशेष सत्र बुलायें. विधायक तिर्की अपने आवास पर मीडिया से बातचीत कर रहे थे. इस दौरान बंधु तिर्की ने सरकार से मानसून सत्र बुलाने, इसी सत्र में सरना कोड प्रस्ताव पास करने सहित कांग्रेस में अपनी सदस्यता को लेकर काफी कुछ कहा.

इसे भी पढ़ेंः घोटाला: आंगनबाड़ी सामग्री खरीद में गड़बड़ी, 12 और 18 रुपये में खरीदी 10 रुपये वाली साबुन

बहस कराने से स्थानीय नीति पर आएगा एक बेहतर रिजल्ट

 

बंधु ने कहा कि स्थानीय नीति राज्य के लिए एक गंभीर एवं महत्वपूर्ण विषय है. सरकार अगर इस महत्वपूर्ण विषय पर बहस करती है, तो जाहिर है कि बहुत सारी बात सामने आएगी. नीति को लेकर बहुत सारे लोगों का चेहरा भी साफ हो जाएगा. उसके बाद सरकार कमिटी गठित करती है, तो निश्चित है कि स्थानीयता नीति का एक बेहतर रिजल्ट सामने आएगा. नहीं तो कमिटी गठित करने के बाद जो रिपोर्ट आएगा, उसका भी लोग विरोध करेंगे.

इसे भी पढ़ेंः हैरत इस बात की है कि समाज ने प्रशांत भूषण जैसे लोगों को कभी नहीं पहचाना

मानसून सत्र बुलाकर सरना कोड प्रस्ताव केंद्र को भेजने की मांग

 

मानसून सत्र को लेकर बंधु ने विशेष तौर पर सत्र बुलाने की बात की. उन्होंने कहा कि नये विधानसभा भवन में इतनी जगह है कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए सत्र आयोजित किया जा सकता है. इसी सत्र में सरना कोड प्रस्ताव को सर्वसम्मति से पास कर केंद्र सरकार को भेजने की पहल भी की जाए. क्योंकि यह एक ऐसा मुद्दा है, जिसकी मांग लंबे समय से होती रही है.

कांग्रेस में रहते तो भी स्थानीय नीति पर उनकी यही बात रहती 

स्थानीय नीति पर कांग्रेस का रुख और पार्टी में उनकी सदस्यता के सवाल पर बंधु ने कहा कि उनकी स्थिति अभी “न तीतर न बटेर” जैसी है. उन्होंने कांग्रेस की सदस्यता ली है, लेकिन संवैधानिक तरीके से अभी तक विधानसभा स्पीकर से मान्यता नहीं मिली है. लेकिन अगर वे पार्टी में रहते, तो वे इसी बात को रखते. विधायक तिर्की ने कहा कि पूरे लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों के घर वापसी पर सीएम हेमंत सोरेन ने हर संभव बेहतर प्रयास किये.

इसे भी पढ़ेंः श्याम रजक की हुई घर वापसी, भावुक होकर बोले – लड़ूंगा सामाजिक लड़ाई

Advt

5 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button