GiridihJharkhandNEWS

भाकपा विधायक विनोद सिंह की माता शांति देवी का निधन, आज ही के दिन पति महेंद्र सिंह हुए थे शहीद

Ranchi: बगोदर विधायक विनोद सिंह की मां और शहीद महेंद्र सिंह की पत्नी शांति देवी (65 वर्ष) का आज निधन हो गया. उन्होंने तड़के ही बोकारो में अंतिम सांस ली. विनोद सिंह ने फेसबुक के जरिये यह जानकारी साझा की है. उनके मुताबिक वे लंबे समय से डायबिटीज की मरीज थीं. तबियत खराब होने के बाद 27 दिसंबर को उन्हें बीजीएच बोकारो में भर्ती कराया गया था. विधायक ने बताया उनका अंतिम संस्कार खंभरा ( बगोदर) गांव में होगा.

Sanjeevani

दिलचस्प यह रहा कि आज की ही तारीख में (16 जनवरी) वर्ष 2005 में शांति देवी के पति और पूर्व विधायक महेंद्र सिंह शहीद हो गये थे. महेंद्र सिंह की हत्या नक्सलियों ने कर दी थी. भाकपा (माले) की ओर से महेंद्र सिंह के शहादत दिवस की तैयारी की जा रही थी. शांति देवी के निधन की खबर सामने आते ही अब बगोदर सहित राज्यभर में शोक की लहर दौड़ गई है. सामाजिक संगठनों, राजनीतिक दलों के नेताओं ने गहरी संवेदना व्यक्त की है.

MDLM

शहादत दिवस कार्यक्रम में भाग लेने की तैयारी

शांति देवी के पति महेंद्र सिंह पहली बार 1990 में झारखंड के गिरिडीह जिले के बगोदर विधानसभा क्षेत्र से आइपीएफ (अब भाकपा माले) के टिकट पर विधायक बनकर सदन में पहुंचे थे. साल 1995 और 2000 के विधानसभा चुनाव में भी वे जीतने में सफल रहे थे. 16 जनवरी, 2005 को नक्सलियों ने उनकी हत्या कर दी थी. इसके बाद 2005 के चुनाव में महेंद्र सिंह के पुत्र विनोद सिंह सदन के लिये चुने गये. महेंद्र सिंह के शहादत दिवस पर हर साल बगोदर में भाकपा माले का बड़ा कार्यक्रम होता रहा है. इसमें शांति देवी भी भाग लेने वाली थीं. बोकारो (बीजीएच, बोकारो) में इलाज करा रही शांति को तबियत ठीक नहीं होने के कारण बगोदर नहीं लाया जा सका था. इस बीच रविवार की तड़के उनका निधन हो गया.

Related Articles

Back to top button