Crime NewsJharkhandSaraikela

भाकपा माओवादी ने ली छोटू कालिंदी की हत्‍या की जिम्मेदारी, कहा- पुलिस मुखबिरी की वजह से ली जान

Saraikela: जिले के कुचाई थाना क्षेत्र के काडेकेदा पुलिया के पास बीते 17 जनवरी को छोटू कालिंदी नाम के शख्स की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी. अब इस हत्या की जिम्मेदारी भाकपा माओवादी ने ली है.

भाकपा माओवादी ने पोस्टरबाजी कर हत्या की जिम्मेदारी लेते हुए कहा कि पुलिस मुखबिर होने की वजह से छोटू कालिंदी की हत्या की गयी है. भाकपा माओवादी की दक्षिणी जोनल कमेटी की ओर से कुचाई स्थित बैंक ऑफ इंडिया की शाखा के आसपास दर्जनों पोस्‍टर साटे गये हैं. पोस्टरबाजी की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और सभी पोस्टर को जब्त कर लिया. पुलिस मामले की छानबीन में भी जुटी है.

इसे भी पढ़ें- हार्दिक पटेल के गिरफ्तार होने के बाद BJP पर प्रियंका का वार, कहा- लगातार कर रही परेशान

पोस्टरबाजी कर ली हत्या की जिम्मेदारी

भाकपा माओवादी ने पोस्टरबाजी कर छोटू कालिंदी की हत्या की जिम्मेदारी ली है. माओवादियों ने पोस्टर में छोटू कालिंदी को पुलिस का मुखबिर बताया है.

नक्‍सली पोस्‍टर से इस हत्‍याकांड में नया मोड़ आ गया है. हालांकि, अब पुलिस इस बात का पता लगा रही है कि सही में पोस्‍टरबाजी भाकपा माओवादियों की ओर की गयी है या फ‍िर जांच की दिशा को भटकाने और पुलिस को गुमराह करने के लिए हत्‍या करनेवाले ने यह काम किया है.

इसे भी पढ़ें- #CAA: लखनऊ में प्रदर्शन जारी, पुलिस ने जब्त किया कंबल, अलीगढ़ में भी 70 महिलाओं पर FIR

पारिवारिक विवाद में जताया था हत्या का शक

कुचाई के छोटू कालिंदी की हत्‍या कुचाई थाना इलाके के काडेकेदा पुलिया के पास बीते 17 जनवरी को गोली मारकर कर दी गयी थी. 50 वर्षीय छोटू कालिंदी कुचाई से मोटरसाइकिल से घर लौट रहा था इसी दौरान पहले से घात लगाये अपराधी ने छोटू की पीठ पर गोली मारी थी.

इस घटना में मौके पर ही छोटू की मौत हो गयी थी. हत्‍या की सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और शव को अपने कब्‍जे में लेकर छानबीन में जुट गयी थी. छोटू कालिंदी की बेटी ज्योति कालिंदी ने शुरुआती पूछताछ में पारिवारिक विवाद में हत्‍या का शक जताया था.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: