न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

छठ घाट निरीक्षण को पहुंचे सीपी सिंह, कहा तालाब को तालाब ही रहने दें, एक इंच भी न करें छोटा 

छठ महापर्व के पहले रविवार को विभिन्न तालाबो के निरीक्षण में पहुंचे सीपी सिंह,तालाबों के रिजर्वेशन करने वालों को चिंह्रित करने की कही बात

eidbanner
91

Ranchi : छठ महापर्व को लेकर विभिन्न तालाबों में बने घाटों के निरीक्षण करने पहुंचे नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने मेयर आशा लकड़ा, नगर आयुक्त मनोज कुमार को कहा है कि तालाब को तालाब ही रहने दें. किसी भी हाल में तालाब एक इंच भी छोटा न हो. मंत्री सीपी सिंह रविवार को जेल तालाब, चडरी तालाब, बड़ा तालाब, मधुकम तालाब,  सरवर तालाब आदि के निरीक्षण के दौरे पर थे. इस दौरान उन्होंने छठव्रतियों की सुविधा के लिए हर संभव प्रयास करने का भी निर्देश दिया.

मंत्री सीपी ने कहा, अब ज्यादा समय नहीं बचा है. जितनी जल्दी हो, छठ घाटों की सफाई-व्यवस्था को दुरुस्त कर गहराई वाले इलाकों की घेराबंदी की जाए. तालाबों को कब्जा करने वाले लोगों को चिंह्रित करने की बात करते हुए कहा कि अच्छा होगा कि इसे रोकने के लिए लोग स्वयं पहल करें. रांची नगर निगम ने अपने स्तर पर पहल कर 10 से अधिक तालाबों में घाटों का निर्माण कराया है. इसमें वैसे तालाब भी है, जहां पहले कभी लोग छठ करने नहीं जाते थे. निरीक्षण के दौरान उनके साथ डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय, अपर नगर आयुक्त गिरिजा शंकर प्रसाद सहित निगम के कई कर्मी उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें- पांचवीं अनुसूची पर सुलगते सवालों का जवाब नहीं सूझा एक्सपर्ट सुभाष कश्यप को, सचिव ने किया प्रोग्राम…

बड़ा तालाब को देख मंत्री ने जतायी नाराजगी

बड़ा तालाब के निरीक्षण में पहुंचे नगर विकास मंत्री वहां काम कर रहे कर्मियों पर कुछ नाराज दिखे. उन्होंने कहा कि तालाब के कुछ हिस्सों पर मिट्टी भर दिया गया है, जो कि गलत है. छठ महापर्व को लेकर हर तरह की विशेष तैयारी करना जरूरी है, लेकिन इसका अर्थ यह नहीं है तालाब के हिस्से को भरा जाए. किसी भी हालत में तालाब एक इंच भी छोटा नहीं होना चाहिए. बड़ा तालाब में बन रहे विवेकानंद मूर्ति की स्थिति की बात करते हुए मंत्री जी ने कहा कि ठेकेदार की लापरवाही के कारण अब इसका निर्माण कार्य एलएंडटी को दिया गया है. उन्होंने नगर आयुक्त को बड़ा तालाब के किनारे धीमी गति से कार्य कर रहे ठेकेदार पर भी नजर रखने का निर्देश दिया.

एनडीसी ने पूर्व सीएम बाबूलाल की सुरक्षा को कैसे खतरे में डाला, जिला प्रशासन की छवि हुई खराब

छठव्रतियों को न हो परेशानी, इसपर ध्यान दें अधिकारी

मीडिया से बातचीत में मंत्री ने कहा कि छठ महापर्व को लेकर तालाबों की सफाई की जा रही है. शनिवार को काली मूर्ति के विसर्जन के बाद कुछ तालाबों की स्थिति बिगड़ी है. रविवार को भी कुछ मूर्तियों का विसर्जन किया जाना है. अधिकारियों को कहा कि इस तरफ ध्यान दें, ताकि छठव्रतियों को किसी तरह की कोई परेशानी न हो. श्रद्दालुओं की सुविधा के लिए हर सुविधा की व्यवस्था की जाएगी. इसमें जनरेटर, पानी, गहराई वाले तालाबों में वोट और एनडीआरएफ की टीम की व्यवस्था शामिल है.

झरिया : जान जोखिम में डाल कर अमलाबाद छठ घाट जायेंगे छठव्रति

बेहतर होगा रिजर्वेशन के खिलाफ स्वंय आगे आए लोग

अधिकतर छठ घाटों पर कब्जा करने वाले लोगों पर जुर्माना लगाने के सवाल पर नगर विकास मंत्री ने कहा कि जुर्माना लगाना समस्या का निदान नहीं है. तालाबों में रिजर्वेशन करने वाले लोगों को चिंह्रित जरूर किया जाएगा. लेकिन बेहतर उपाय है कि लोग स्वयं आगे आकर पहल करें कि तालाबों का रिजर्वेशन न हो. एक समय था जब शहर के कुछ तालाबों में ही घाटों की व्यवस्था थी. आज स्थिति बदली है. निगम ने अपने प्रयासों से 10 से अधिक तालाबों में छठ घाटों का निर्माण कराया है. जेल तालाब, बनस तालाब, नायक तालाब, मधुकम तालाब की स्थिति किसी से छिपी नहीं है. छठव्रतियों को यहां अब हर तरह की सुविधा मिल रही है.

चाईबासा :  पुलिस-पीएलएफआई मुठभेड़, नक्सली भाग निकले, भारी संख्या में हथियार बरामद  

सोमवार तक ब्लीचिंग डालने का काम होगा पूरा

मौके पर मेयर आशा लकड़ा ने कहा कि पहले ही उन्होंने शहर के सभी तालाबों का निरीक्षण कार्य पूरा किया है. शनिवार को काली पूजा मूर्ति का विसर्जन कार्य किया गया, रविवार को भी कुछ तालाबों में विसर्जन किया जाना है. ऐसे में रविवार रात तक सभी तालाबों की सफाई कर गहराई वाले क्षेत्रों की घेराबंदी की जायेगी. वहीं सोमवार सुबह तक ब्लीचिंग डालने का काम पूरा कर लिया जाएगा.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: