BiharNEWS

महिला से छेड़खानी मामले में युवक को प्रायश्चित के तौर पर कोर्ट ने सुनाई अनूठी सजा

मुफ्त सेवा पूरा करने का प्रमाणपत्र लाने और अदालत में पेश करने का भी आदेश दिया

Patna : बिहार की एक अदालत ने छेड़छाड़ के आरोपी एक युवक को इस शर्त पर जमानत दी है कि वह अपराध के प्रायश्चित के तौर पर छह महीनों के लिए अपने गांव की सभी महिलाओं के कपड़े धुलेगा और प्रेस करेगा.
द टेलीग्राफ की रिपोर्ट के अनुसार, मधुबनी जिले में झांझरपुर कोर्ट के अतिरिक्त जिला जज-प्रथम अविनाश कुमार ने 20 वर्षीय आरोपी ललन कुमार सफी से ग्राम पंचायत के मुखिया, सरपंच या किसी सरकारी अधिकारी से मुफ्त सेवा पूरा करने का प्रमाणपत्र लाने और अदालत में पेश करने का आदेश दिया है.

इसे भी पढ़ें : झारखंड : जिलों में नये चेहरों को मिल सकती है जिम्मेवारी, तैयारी में लगी प्रदेश कांग्रेस

ये आदेश दिया कोर्ट ने

मंगलवार को दिए अपने आदेश में जज ने कहा कि ललन को इस शर्त पर जमानत दी गई है कि वह छह महीने के लिए अपने गांव की सभी महिलाओं के कपड़े इकट्ठा करेगा, धोएगा और प्रेस करेगा. इससे उसमें महिलाओं के प्रति सम्मान पैदा करने में मदद मिलेगी.

advt

जज ने यह भी कहा कि धुले और प्रेस किए कपड़े वापस करने के लिए युवक को अपने गांव के सभी घरों में जाना होगा. उसे 10-10 हजार रुपये के दो जमानती मुचलके भी भरने को कहा गया.
आदेश की एक प्रति पंचायत को भेजी गई ताकि चुने हुए प्रतिनिधि इस बात पर नजर रख सकें कि पेशे से धोबी ललन इसका पालन कर रहा है या नहीं.

हालांकि, आदेश से पहले पीड़िता के वकील ने अदालत से कहा था कि वह मामले को आगे नहीं बढ़ाना चाहती है. अभियोजन कार्यवाही को समाप्त करने के लिए एक सुलह याचिका भी दायर की गई थी.

इसे भी पढ़ें : कैप्टन अमरिंदर ने राहुल-प्रियंका को बताया था ‘अनुभवहीन’, कांग्रेस ने दिया ये जवाब

केस दर्ज कर पुलिस ने भेजा था जेल

बता दें कि, मझौरा गांव का रहने वाले युवक ने 17 अप्रैल की रात लौकाहा बाजार में एक महिला के साथ छेड़छाड़ करने की कोशिश की थी. 18 अप्रैल को मामला दर्ज कर पुलिस ने उसे जेल भेज दिया था.

इसे भी पढ़ें : पूर्व विधायक राजकिशोर महतो के पोते हर्ष का निधन, महतो परिवार पर दुःख का पहाड़, 10 महीने में खोए 4 सदस्य

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: