GiridihJharkhand

गिरिडीह में नालियों के गंदे पानी को इस्तेमाल लायक बनाने की तैयारी, विधायक के प्रस्ताव को निगम बोर्ड की स्वीकृति

Giridih : गिरिडीह में नालियों के गंदे पानी को भी इस्तेमाल के लायक बनाने की तैयारी है. गिरिडीह नगर निगम जल्द ही इस प्रोजेक्ट को धरातल पर उतारने के लिए राज्य सरकार को प्रस्ताव भेजेगा.

इसे लेकर विधायक सुदिव्य कुमार सोनू ने गुरुवार को गिरिडीह नगर निगम में बोर्ड की बैठक में प्रस्ताव रखा, जिसे सर्वसम्मति से पारित कर दिया गया.

इसे भी पढ़ें – 3 महीने से सहायक पुलिसकर्मियों को वेतन नहीं, भुखमरी की नौबत

10 स्थानों पर वाटर ट्रीटमेंट प्लांट बनाने का प्रस्ताव

दरअसल, गुरुवार को निगम सभागार में हुई गिरिडीह नगर निगम बोर्ड की बैठक में कई प्रस्तावों पर काम करने की स्वीकृति भी दी गयी. इस बैठक में झामुमो विधायक सुदिव्य कुमार सोनू भी शामिल थे. उन्होंने बैठक में नालियों के गंदे पानी को इस्तेमाल लायक बनाने का प्रस्ताव रखा. उनके इस प्रस्ताव की तारीफ करते हुए सभी वार्ड पार्षदों ने इस पर सहमति दी.

हालांकि, इस दौरान पार्षदों ने यह भी जानना चाहा कि नाली के गंदे पानी को किस तरह के काम में इस्तेमाल के लायक बनाया जायेगा. इस पर विधायक सोनू ने बताया कि नालियों के गंदे पानी का इस्तेमाल निगम इलाके में कई कामों के लिए किया जा सकता है. जरूरत के आधार पर ऐसे पानी को इस्तेमाल के लायक बनाया जायेगा.

उन्होंने बताया कि वाटर ट्रीटमेंट प्लांट में नाली के गंदे पानी को इस्तेमाल के लायक बनाया जायेगा. इसके लिए निगम के 10 स्थानों पर वाटर ट्रीटमेंट प्लांट बनाये जायेंगे, जिनमें पचंबा के बुढ़वा आहर तालाब, व्हीट्टी बाजार महादेव तालाब, बोड़ो तालाब के अलावा शहर की उसरी नदी में अरगाघाट, नया पुल उसरी नदी तट, झरियागादी उसरी नदी के तट पर इन प्लांटों का निर्माण किया जायेगा.

इन प्लांट्स में निगम क्षेत्र की सभी नालियों के गंदे पानी को स्टोर कर उसे इस्तेमाल के लायक बनाया जायेगा. बैठक में विधायक के इस प्रस्ताव को मिली सहमति के बाद इसे राज्य सरकार को भेजने का निर्देश भी दे दिया गया.

इसे भी पढ़ें – भाजपा विधायक ने निगरानी थाने में किया लालू प्रसाद पर मुकदमा

हर वार्ड में सोलर मिनी प्लांट के निर्माण का प्रस्ताव पास

इस बीच बैठक में राज्य सरकार द्वारा चयनित एजेंसी से निगम के 36 वार्डों में लाइट लगाने की योजना के प्रस्ताव को भी स्वीकृति दी गयी. साथ ही शहर के श्मशान घाट में शेड निर्माण को मंजूरी मिली. निगम के हर वार्ड में सोलर मिनी प्लांट निर्माण का प्रस्ताव पास किया गया. वहीं, पेयजलापूर्ति योजना से जुड़े हर ट्रीटमेंट प्लांट में दो अतिरिक्त मोटर पंप लगाने की बात कही गयी.

बैठक में 15वें वित्त आयोग की राशि पौने पांच करोड़ रुपये की लागत से पूर्व में ली गयी निगम की 29 योजनाओं को भी पास किया गया. इसमें नाली और पीसीसी रोड का निर्माण शामिल है. इस दौरान उप नगर आयुक्त राजेश प्रजापति ने बताया कि फिलहाल पौने पांच करोड़ रुपये भेजे गये हैं, लेकिन जल्द ही अन्य योजनाओं के प्रस्ताव को नगर विकास मंत्रालय को भेजा जायेगा.

इसे भी पढ़ें – नाबालिग का हुआ था अपहरण, हुई प्रेग्नेंट तो परिजनों ने अपनाने से किया इनकार, बालिका गृह में बच्चे को दिया जन्म

68 लाभुकों ने बुक कराया है फ्लैट

इस दौरान उपनगर आयुक्त ने बैठक में बताया कि नगर निगम द्वारा सदर प्रखंड के पचंबा करहरबारी में पीएम वर्टिकल आवास का निर्माण किया जा रहा है, जिसमें सालाना तीन लाख रुपये से कम आय वाले लाभुकों को फ्लैट उपलब्ध कराया जाना है. इसके लिए लाभुक को पांच हजार रुपये जमा कर पहले निगम में निबंधन कराना होगा.

इसके बाद राज्य सरकार के ढाई लाख की अनुदान राशि से फ्लैट दिया जायेगा. उपनगर आयुक्त ने यह भी बताया कि अब तक 68 लाभुकों ने फ्लैट बुक कराया है, जबकि कुल फ्लैटों की संख्या 190 यूनिट के करीब है. बैठक में महापौर प्रकाश सेठ, वार्ड पार्षद रंजीत यादव, पप्पू रजक, कमल सिंह, अनिता देवी, नीलम झा समेत कई पार्षद मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें – ट्रेड यूनियनों की हड़ताल : कोयला खनन और ट्रांसपोर्टिंग रहा ठप, अधिकतर बैंक बंद रहे

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: