न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कॉरपोरेट घरानो ने भाजपा को 706 करोड़, कांग्रेस को 198 करोड़ का चंदा दिया

देश मे चुनाव और पारदर्शिता पर काम करने वाली संस्था एसोसिएशन फ़ॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (ADR) की रिपोर्ट के अनुसार 2012-13 से 2015-16 के बीच देश के पांच राष्ट्रीय राजनीतिक दलों को कुल 957 करोड़ रुपये का चंदा मिला.

25

 NewDelhi : भाजपा का 92 प्रतिशत चंदा और कांग्रेस का 85 प्रतिशत चंदा कॉरपोरेट कंपनियों से आता है.  देश मे चुनाव और पारदर्शिता पर काम करने वाली संस्था एसोसिएशन फ़ॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (ADR) की रिपोर्ट के अनुसार 2012-13 से 2015-16 के बीच देश के पांच राष्ट्रीय राजनीतिक दलों को कुल 957 करोड़ रुपये का चंदा मिला. रिपोर्ट की मानें तो अकेले भाजपा को 706 करोड़ रुपये कंपनियों ने दिये. यह उसकी कुल कमाई का 92 प्रतिशत है.  इस क्रम में कांग्रेस को 198 करोड़ रुपये मिले जो उसकी कुल कमाई का 85 प्रतिशत है. इन पार्टियों को चार साल में मिला कुल चंदा 957 करोड़ में से 573 करोड़ लोकसभा चुनाव के 2014-15 में मिला. बता दें कि 20,000 रुपये से ऊपर का दान देने वालों की जानकारी राजनीतिक दल चुनाव आयोग को देते हैं.

 केंद्र सरकार ने इलेक्टोरल बांड की मंजूरी दी है

हालांकि अब केंद्र सरकार ने इलेक्टोरल बांड की मंजूरी दे दी है,  जिसमें यह पता नहीं चल पायेगा कि किस पार्टी को किस कंपनी से कितना चंदा मिला. केंद्र सरकार के इस फैसले का एडीआर विरोध कर रहा है.  जान लें कि राजनीतिक पार्टियों पर हमेशा इस बात के आरोप लगते रहे हैं कि उनके चुनावी खर्च में कारपोरेट सेक्टर मदद करता है.  इसके बाद जब सरकार बनती है तो नीतियां भी इन्हीं बिजनेस घरानों के लिए बनाई जाती है लेकिन आम जनता पिसती रहती है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: