Corona_UpdatesWorld

#CoronaVirus की कैद में दुनियाः अमेरिका में एक लाख से ज्यादा लोग पीड़ित, इटली में एक दिन में एक हजार मौतें

विज्ञापन

NW Desk: कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को घुटनों के बल पर ला दिया है. जानलेवा वायरस से पूरा विश्व प्रभावित है. सबसे शक्तिशाली देश माना जानेवाले अमेरिका में स्थिति दिन-ब-दिन खराब हो रही है. फिलहाल अमेरिका में कोरोना पीड़ित की संख्या सबसे ज्यादा एक लाख के पार है. वहीं 24 घंटे में 324 लोगों की मौत होने की खबर है.

इसे भी पढ़ेंःदेश में बढ़ रहा #CoronaVirus का खौफ, 834 केस, 19 की मौत

जबकि इटली में मौत का आंकड़ा दहलाने वाला है. इटली में सारे रिकॉर्ड को तोड़ते हुए एक दिन में एक हजार लोगों के इस वायरस संक्रमण से मौत हो गयी है. जो अबतक का एक दिन में हुई मौत का सबसे बड़ा आंकड़ा है.

advt

अमेरिका में कोरोना केस 100,000 के पार

अमेरिका में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और अब ये 1,00,000 का आंकड़ा पार कर चुका है. जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के ट्रैकर ने शुक्रवार को यह आंकड़े सामने रखे. अमेरिका में शाम छह बजे तक 1,544 मौत समेत 1,00,717 मामले दर्ज किए गए.

सबसे अधिक मामले न्यूयॉर्क से सामने आ रहे हैं. समाचार एजेंसी एएफपी ने जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के हवाले से कहा कि अमेरिका में पिछले 24 घंटे में 18000 कोरोना वायरस के नये मामलों की पुष्टि हुई है.

अमेरिका में संक्रमण के मामलों में दूसरे नंबर के देश इटली से करीब 15,000 और चीन से 20,000 से अधिक मामले हैं. सबसे पहले इस बीमारी का पता चीन में ही चला था और वह इसका केंद्र बनकर सामने आया.

अमेरिका में संक्रमित मामलों पर मृत्यु दर इटली के करीब 10.5 प्रतिशत के मुकाबले करीब 1.5 प्रतिशत है.

adv

मृत्यु दर कम हो सकती है क्योंकि बड़े पैमाने पर जांच से पता चला है कि ज्यादातर लोग संक्रमित हैं लेकिन उनमें बीमारी से लक्षण नहीं दिखाई दिए हैं.

हालांकि यह बढ़ भी सकती है अगर और शहरों तथा राज्यों में न्यूयॉर्क जैसी स्थिति सामने आने लगे. न्यूयॉर्क में 500 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है और वहां अस्पताल में बिस्तरों, निजी सुरक्षा उपकरणों और वेंटिलेटरों की भारी कमी है.

इसे भी पढ़ेंः#CoronavirusOutbreak: पूर्व मध्य रेलवे हाजीपुर जोन के सभी कर्मी प्रधानमंत्री राहत कोष में देंगे एक दिन का वेतन

इटली में 24 घंटे में 1000 मौतें

कोरोना वायरस का केंद्र बने इटली में मौत के आंकड़े डराने वाले हैं. हर गुजरते दिन के साथ ये आंकड़ा बढ़ता जा रहा है. कोरोना महामारी ने सबसे ज्यादा तबाही इटली में मचाई है. यूरोप के इस देश में अबतक 8 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. शुक्रवार को यहां मौत के आंकड़े ने पिछले सारे रिकॉर्ड तोड़ डाले. आज यहां पर करीब 1000 लोगों की जान कोरोना वायरस ने ले ली.

ब्रिटेन, स्पेन, जर्मनी जैसे देश भी इस जानलेवा बीमारी की चपेट में है. पूरे यूरोप में कोरोना वायरस के 3 लाख से ज्यादा केस हैं. बात अगर इटली की हो तो यहां पर कोरोना पॉजिटिव केस 86 हजार से ज्यादा हैं. इटली में इससे पहले गुरुवार को 712, बुधवार को 683, मंगलवार को 743 और सोमवार को 602 लोगों की मौत कोरोना वायरस से हुई थी.

हालांकि संक्रमण दर में कमी आई है. पिछले दिनों के आठ प्रतिशत गति से बढ़ने की अपेक्षा इसमें कुल 7.4 फीसदी ही बढ़ोतरी हुई है.

अमेरिका 64 देशों को 17.4 करोड़ डॉलर की अतिरिक्त आर्थिक मदद देगा

अमेरिका ने कोरोना वायरस वैश्विक महामारी से निपटने में मदद करने के मकसद से भारत समेत 64 देशों को 17.4 करोड़ डॉलर की अतिरिक्त आर्थिक सहायता देने की शुक्रवार को घोषणा की. इस राशि में से 29 लाख डॉलर मदद के तौर पर भारत को दिए जांएगे.

यह फरवरी में अमेरिका की ओर से घोषित 10 करोड़ डॉलर की मदद के अलावा है.

फिलहाल घोषित की गई नयी राशि रोग नियंत्रण एवं बचाव केंद्र (सीडीसी) समेत विभिन्न विभागों एवं एजेंसियों के विशाल अमेरिकी वैश्विक प्रतिक्रिया पैकेज का हिस्सा है. यह वित्तीय मदद वैश्विक महामारी के खतरे का सामना कर रहे सबसे ज्यादा जोखिम वाले 64 देशों के लिए है.

अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा कि वह जांच केंद्र स्थापित करने, मामलों की खोज और घटनाओं पर आधारित निगरानी को क्रियाशील बनाने तथा प्रतिक्रिया एवं तैयारी के लिए तकनीकी विशेषज्ञों की सहायता आदि में मदद करने के मकसद से भारत सरकार को 29 लाख डॉलर की मदद दे रहा है.

अमेरिकी अंतरराष्ट्रीय विकास एजेंसी (यूएसएआइडी) के उप प्रशासक बोनी ग्लिक के मुताबिक, यह नयी सहायता अमेरिका के वैश्विक स्वास्थ्य नेतृत्व को और मजबूत बनाएगा.

आर्थिक मदद की घोषणा के अलावा अमेरिका अपने दोस्तों एवं सहयोगियों की वेंटिलेटरों की जरूरत की आपूर्ति करने को भी तैयार है.

राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि कोरोना वायरस से बड़ी संख्या में लोगों के संक्रमित होने के बाद अमेरिका ने वेंटिलेटर और अन्य चिकित्सीय उपकरणों का उत्पादन बढ़ा दिया है और उनका प्रशासन अन्य देशों को भी इन्हें वितरित करेगा.

इसे भी पढ़ेंः#CoronaVirus :: रिम्स में कोरोना के 14 संदिग्ध मरीजों के सैंपल की हुई जांच, सभी नेगेटिव

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button