Khas-KhabarNational

#CoronaUpdate: देश में संक्रमितों की संख्या हुई 195, चार की मौत, 20 लोग हुए स्वस्थ

New Delhi: देश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 195 हो गयी है. वहीं गुरुवार को एक शख्स की मौत के बाद इस जानलेवा वायरस के कारण मरने वालों की संख्या चार हो गयी है. हालांकि 20 लोग इस बीमारी से स्वस्थ भी हुए हैं.

वहीं देश भर में इस महामारी को रोकने के लिए कई तरह के एहतियात बरतें जा रहे हैं. कई राज्यों में पाबंदियां लगाई जाने के चलते बंद जैसी स्थिति की ओर बढ़ रहे हैं.

इधर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार रात 8 बजे देश के नाम अपने संबोधन में इस संकट का मजबूती से मुकाबला करने के लिए 22 मार्च को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक ‘‘जनता कर्फ्यू’’ का आह्वान किया. उन्होंने लोगों से अपील की कि आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों के अलावा अन्य शख्स इस दौरान घर से बाहर नहीं निकले.

advt

इसे भी पढ़ेंः#NirbhayaJustice: सात साल बाद देश की बेटी को मिला इंसाफ, तिहाड़ जेल में चारों दोषियों को फांसी

195 केस में से 20 हुए ठीक, चार की मौत

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार संक्रमित लोगों में 32 विदेशी नागरिक शामिल हैं.

मंत्रालय के अनुसार देश में कोविड-19 के अभी 171 मामले हैं. इसके अलावा 20 लोग वे हैं, जो ठीक हो गये हैं या उन्हें छुट्टी दे दी गई है जबकि चार लोगों की मौत हो गई है.

दिल्ली में अभी तक एक विदेशी सहित 17 लोग इससे संक्रमित पाए गए हैं. वहीं उत्तर प्रदेश में भी एक विदेशी सहित 19 मामले सामने आए हैं.

adv

महाराष्ट्र में तीन विदेशियों समेत 47 मामले सामने आए हैं, जबकि केरल में दो विदेशी नागरिकों समेत 28 मामले दर्ज किए गए हैं.

कर्नाटक में कोरोना वायरस के 15 मरीज हैं. लद्दाख में संक्रमण के मामले बढ़कर 10 हो गए हैं और जम्मू-कश्मीर में इसकी संख्या बढ़कर चार हो गई है. तेलंगाना में नौ विदेशियों समेत 16 मामले सामने आए हैं.

राजस्थान में दो विदेशियों समेत सात लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हैं. तमिलनाडु में तीन मामले सामने आए हैं. वहीं आंध्र प्रदेश में दो लोग इससे संक्रमित हैं. ओडिशा, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल, पुडुचेरी, चंडीगढ़ और पंजाब में एक-एक मामला सामने आया है. हरियाणा में 14 विदेशियों समेत 17 लोग संक्रमित हैं.

उत्तराखंड में पहला लॉकडाउन

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में इंदिरा गांधी वन अनुसंधान केंद्र (FRI Dehradun) को लॉकडाउन करने की प्रक्रिया शुरू करने के आदेश दिए गए हैं. ऐसे में अब न ही संस्थान से कोई बाहर आयेगा और न ही अंदर जा सकेगा.

इसी संस्थान से 62 आइएफएस अधिकारी स्पेन और फ़िनलैंड की यात्रा कर लौटे थे. इनमें से फिलहाल 3 अधिकारियों के सैम्पल पॉजिटिव पाए गए हैं. जबकि कुछ की रिपोर्ट अभी और आना बाकी है.

तीन शिफ्ट में दफ्तर पहुंचेंगे केंद्रीय कर्मचारी

केंद्र सरकार ने सरकारी कार्यालयों में भीड़ कम करने के लिए अपने 50 फीसदी कर्मचारियों को ही दफ्तर आने को कहा है. साथ ही इनके आने-जाने का समय भी अलग-अलग किया गया है.

डीओपीटी के आदेश के मुताबिक विभाग के प्रमुख की ये जिम्मेदारी होगी कि वो सुनिश्चित करें कि दफ्तर आने वाले कुछ कर्मचारियों का समय सुबह 9 से शाम 5:30 बजे, कुछ का 9:30 से छह बजे और कुछ का 10 बजे से 6:30 बजे तक हो.

इसे भी पढ़ेंःक्या फ्लोर टेस्ट पास कर पायेंगे कमलनाथ? दिग्विजय बोले- बहुमत नहीं

शिवसेना का पीएम मोदी पर निशाना

इधर सरकारी कार्यालयों में आधे कर्मचारियों को बुलाने और भीड़ कम करने की कोशिशों के बीच शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के जरिये पीएम मोदी पर निशाना साधा है.

सामना में कहा गया कि देश के पीएम एक तरफ आह्वान करते हैं कि दिल्ली में कोई भीड़ न करे और एक-दूसरे से न मिले, लेकिन उसी वक्त वे देश की संसद को राजनीतिक कारणों से चालू रखते हैं.

हजारों सांसद, उतने ही अधिकारी और कर्मचारी संसद परिसर में एक साथ रहते हैं. एक ओर सरकारी काम-काज धीमा या बंद करना और दूसरी ओर संसद का काम चालू रखना. ये किसी लोकतंत्र की महान परंपरा का जतन बिल्कुल नहीं है.

झारखंड में उठाये गये कुछ एहतियाती कदम

सचिवालय सहित सभी सरकारी कार्यालयों में बाहरी के प्रवेश पर रोक है. संबंधित पदाधिकारी से मिलने की अनुमति पर ही प्रवेश दिया जायेगा.

रजिस्ट्री कार्यालयों में जमीन या अन्य दस्तावेज की रजिस्ट्री में पक्षकारों के फिंगर स्कैनर के माध्यम से पहचान पर रोक लगा दी गयी है.

सूबे में अबतक 40 लोगों की कोरोना को लेकर जांच हुई है और सभी की रिपोर्ट निगेटिव आयी है. किसी में कोरोना वायरस होने की पुष्टि नहीं हुई है.

बैद्यनाथ मंदिर में बाहरी के प्रवेश पर रोक है. वहीं दिउड़ी और श्रीबंशीधर मंदिर बंद श्रद्धालुओं के लिए बंद किये गये हैं.

इसे भी पढ़ेंः#Coronavirusoutbreakindia : 22 मार्च रविवार को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक देश भर में जनता कर्फ्यू

मुंबई में घर से नमाज पढ़ने की अपील

कोरोना वायरस के चलते मुंबई में कई मस्जिदों ने एहतियाती तौर पर नमाज से पहले हौज में वुजू करने पर रोक लगा दी है.

वसाई-विरार इलाके में नगर निगम के अधिकारियों ने लोगों से मस्जिदों में आने के बजाय घर पर ही नमाज अदा करने की अपील की है.

एक मौलवी ने कहा कि शहर की कई मस्जिदों ने कालीन (चटाइयां) हटा दी हैं ताकि हर नमाज से पहले फर्श की अच्छी तरह सफाई की जा सके.

कई मस्जिदों ने लोगों से हौज में वुजू करने के बजाय नलों से निकलने वाले पानी से वुजू करने की अपील की है. कुछ मौलवियों ने कहा कि नमाजी घर से ही वुजू करके मस्जिद आ सकते हैं.

माहिम जामा मस्जिद के ट्रस्टी फरहाद खलील ने कहा, ‘लोग को सलाह दी गई है कि वे फर्ज नमाज अदा करने के लिये मस्जिद में आएं और सुन्नत तथा नफिल घर पर भी पढ़ सकते हैं.’

इसे भी पढ़ेंःमैनहर्ट मामले में जांच रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई करेगी सरकार, रांची सिवरेज ड्रेनेज के लिए नए सिरे से बनेगा डीपीआर

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button