JharkhandLead NewsOFFBEATRanchi

कोरोना का कहर, शादी-ब्याह पर पड़ रहा असर

दस हजार से अधिक शादियां टलीं, कोर्ट मैरेज भी नगण्य

Ranchi : कोरोना वायरस के संक्रमण ने आम जनजीवन पर हगरा असर डाला है. इसका असर शादियों पर भी पड़ा है. मंदिरों, बैंक्वेट हॉल, मैरेज हॉल में सन्नाटा पसरा है.

वहीं, कोर्ट मैरिज का ग्राफ भी बिल्कुल नीचे आ गया है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक कोरोना के कारण रांची शहर में अप्रैल-मई के दौरान लगभग दस हजार से अधिक शादियां टल गयी हैं.

advt

कोरोना से बचाव के लिए लागू लॉकडाउन और सरकारी बंदिशों के कारण शादियों की तिथि आगे बढ़ाने को लोग विवश हो रहे हैं. वहीं, कोर्ट मैरिज करनेवाले जोड़ों की संख्या भी नगण्य है.

इसे भी पढ़ें :देश में कोरोना से मरने वालों की संख्या तीन लाख के पार, नये मरीज ढाई लाख के नीचे

जानकारी के मुताबिक विगत 17 अप्रैल से 23 मई तक राजधानी रांची के कचहरी चौक स्थित मुख्य रजिस्ट्री कार्यालय में शादी के निबंधन के लिए मात्र 15 आवेदन प्राप्त हुए थे.

इन 36 दिनों में सिर्फ दो जोड़ों ने कोर्ट मैरिज किया. जबकि सामान्य दिनों में जनवरी से अप्रैल तक हिंदू मैरेज एक्ट के तहत करीब 600 शादी के लिए निबंधन हुआ था. जिसमें से 250 कोर्ट मैरिज हुए.

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक कोविड की दूसरी लहर शुरू होने के पूर्व प्रतिदिन कोर्ट मैरिज के लिए निबंधन के लिए औसतन 15 आवेदन प्राप्त हुआ करते थे.

रजिस्ट्री ऑफिस के प्रधान सहायक के अनुसार वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव के मद्देनजर लागू लॉकडाउन के कारण कोर्ट मैरेज का ग्राफ बिल्कुल नीचे आ गया है. उन्होंने बताया कि 22 अप्रैल से शादी का शुभ मुहूर्त शुरू हो गया था.

इसे भी पढ़ें :स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के खिलाफ अभद्र भाषा बोलने वाले डॉक्टर ओपी आनंद हिरासत में

इस बार जुलाई तक लग्न है. बावजूद इसके कोरोना संक्रमण काल के कारण शादियां नहीं हो पा रही हैं. कोर्ट मैरेज की संख्या में कमी होने के पीछे एक प्रमुख वजह अधिवक्ताओं व दस्तावेज नवीसों का काम पर नहीं आना भी बताया जाता है.

रांची सिविल कोर्ट में कामकाज ठप है. विदित हो कि कोर्ट मैरिज से पूर्व कागजी कार्रवाई में अधिवक्ता या दस्तावेज नवीस की महत्वपूर्ण भूमिका होती है. लेकिन अधिवक्ता व दस्तावेज नवीसों के काम पर नहीं आने से कोर्ट मैरेज भी नहीं हो पा रहा है.

गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए रांची जिला बार एसोसिएशन और दस्तावेज नवीस संघ ने 30 मई तक अदालत और रजिस्ट्री ऑफिस के कार्य से दूर रहने का निर्णय लिया है. इस वजह से भी कोर्ट मैरिज प्रभावित हुई है.

इसे भी पढ़ें :चक्रवाती तूफान यास ने थामे चार ट्रेनों के पहिये, अब तक 11 ट्रेनों को किया गया कैंसिल

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: