न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#Corona_Impact: GoAir की इंटरनेशनल फ्लाइट्स कैंसिल, कंपनी ने कर्मचारियों को अनपेड लीव पर भेजा

1,034

Mumbai: कोरोना वायरस का असर अर्थव्यवस्था पर पड़ चुका और अब इसका प्रभाव रोजगार पर भी दिखने लगा है. कोरोना के बढ़ते खतरे के कारण घरेलू विमानन कंपनी गोएयर ने अपनी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें निलंबित करने की घोषणा की है.

इसे भी पढ़ेंःभारत में तेजी से बढ़ रहा #Corona का खौफ, 148 पॉजिटिव केस, अब तक तीन की मौत

कोरोना वायरस संकट के मद्देनजर मंगलवार को कंपनी ने इसकी घोषणा की. साथ ही उड़ानों की संख्या में कमी आने के कारण कंपनी अपने कर्मचारियों को बिना वेतन के छुट्टी पर भेजेगी. सूत्रों ने जानकारी दी कि कंपनी किस्तों में कर्मचारियों के वेतन में 20 प्रतिशत कटौती करने की भी योजना बना रही है.

15 अप्रैल तक इंटरनेशनल फ्लाइट्स रद्द

कंपनी ने न्यूज एजेंसी पीटीआइ को दिए बयान में कहा कि कोरोना वायरस संकट की सबसे ज्यादा मार विमानन उद्योग पर पड़ी है. क्योंकि कई सरकारों ने यात्रा प्रतिबंध लगाए हैं.

लोगों को यात्रा टालने या कम करने के परामर्श जारी किए हैं. कंपनियों ने भी अपने कर्मचारियों के यात्रा को सीमित किया है. विशेष समारोहों की तारीखें भी खिसकायी जा रही हैं.

Whmart 3/3 – 2/4

कंपनी ने कहा कि मौजूदा समय में हवाई यातायात में आ रही तेज कमी का उसने पहले कभी अनुभव नहीं किया था. इसे देखते हुए उसने 17 मार्च से 15 अप्रैल तक अपनी सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें निलंबित करने की घोषणा की है.

गोएयर कुल 35 शहरों के बीच उड़ान सेवा देती है. इसमें आठ विदेशी स्थल भी शामिल हैं. कंपनी ने अपनी फुकेट, माले, मस्कट, अबू धाबी, दुबई, बैंकॉक, कुवैत और दम्माम की अंतरराष्ट्रीय उड़ानें 15 अप्रैल तक निलंबित कर दी हैं.

इन उड़ानों को रद्द करने के बाद कंपनी की दैनिक उड़ानों की संख्या 325 से घटकर 280 रह गयी है.

इसे भी पढ़ेंःअब तक नहीं थमा MP का सियासी बवाल, बागी विधायकों से मिलने पहुंचे दिग्विजय हिरासत में

अनपेड लीव पर कर्मचारी

बयान के अनुसार, कंपनी ने कर्मचारियों को अवकाश पर भेजने का फैसला किया है. कंपनी कर्मचारियों को लीव विदआउट पे पर भेज रही है. क्रमिक रूप से एक समय कुछ कर्मचारियों को कार्यस्थल से दूर रखा जाएगा. इससे कंपनी को उड़ानों की संख्या में कटौती के असर से निपटने में मदद मिलेगी.

कंपनी ने कहा कि वह जानती है कि इससे प्रभावित कर्मचारियों पर वित्तीय बोझ बढ़ेगा. लेकिन उसने इस निर्णय पर पहुंचने के लिए अन्य देशों में कंपनियों द्वारा अपनायी जा रही प्रक्रियाओं का अध्ययन किया है. इसलिए इसे हल्के में नहीं लिया जाना चाहिए.

सूत्रों के अनुसार, अभी कंपनी की योजना अपने कार्यबल के 35 प्रतिशत को एक महीने के लिए बिना वेतन की छुट्टी पर भेजने की है. इसमें विदेशी हवाईअड्डों पर काम करने वाले कर्मचारी भी शामिल हैं.

सैलेरी में 20 फीसदी की कटौती का भी प्रस्ताव

सूत्रों के मुताबिक, हवाई यातायात के सामान्य स्तर पर लौटने तक कंपनी को चलाए रखने के लिए गोएयर का किस्तों में कर्मचारियों के वेतन में 20 प्रतिशत की कटौती करने का भी प्रस्ताव है.

इसके अलावा कंपनी जल्द ही विदेशी पायलटों की सेवा जारी रखने के बारे में भी फैसला करेगी क्योंकि अधिकतर उड़ानें रद्द होने से उनके पास काम नहीं होगा.

हालांकि, इस संबंध में गोएयर के प्रवक्ता को भेजे गए सवालों का जवाब नहीं मिला है.

इस बीच मुंबई से मिली खबर के मुताबिक दुबई की विमानन कंपनी ‘फ्लाईदुबई’ ने यात्रा और वीजा प्रतिबंधों के चलते अपनी भारत की उड़ानों को अस्थायी तौर पर निलंबित कर दिया है. कंपनी 17 मार्च से 31 मार्च तक अपनी भारत की उड़ानों को रद्द रखेगी.

वहीं इथोपियन एयरलाइंस ने अप्रैल 2020 में चेन्नई से शुरू होने वाली अपनी नयी उड़ान की शुरुआत को अगली सूचना तक के लिए टाल दिया है.

इसे भी पढ़ेंः#EconomicCrisis: S&P ने 2020 में भारत की विकास दर अनुमान को घटाकर 5.2 % किया

न्यूज विंग की अपील


देश में कोरोना वायरस का संकट गहराता जा रहा है. ऐसे में जरूरी है कि तमाम नागरिक संयम से काम लें. इस महामारी को हराने के लिए जरूरी है कि सभी नागरिक उन निर्देशों का अवश्य पालन करें जो सरकार और प्रशासन के द्वारा दिये जा रहे हैं. इसमें सबसे अहम खुद को सुरक्षित रखना है. न्यूज विंग की आपसे अपील है कि आप घर पर रहें. इससे आप तो सुरक्षित रहेंगे ही दूसरे भी सुरक्षित रहेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like